नई दिल्ली : भारत के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ का मानना है कि खेल में चोटिल होना आम बात है और अब वह इसे भूलकर आगे बढ़ चुके हैं. मुंबई के बल्लेबाज पृथ्वी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछले साल अक्टूबर में अपने पदार्पण टेस्ट में ही शतक जड़ा था. इसके बाद वह ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भी चुने गए थे. वह टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया गए भी थे लेकिन सीरीज शुरू होने से पहले ही चोटिल हो गए थे. चोटिल होने के बाद वह बेंगलुरू स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में दो महीने तक रिहेबिलिटेशन से गुजरे थे. चोट से उबरने के बाद वह सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट टूर्नामेंट भी मुंबई के लिए खेले.

पृथ्वी ने शनिवार को दिल्ली कैपिटल्स के मीडिया डे के दौरान कहा, “चोट के बाद अब मैं सब कुछ भूल गया हूं. खेल में चोटिल होना आम बात है. मैं भी चोटिल हुआ और वह समय मेरे लिए काफी दुर्भाग्यपूर्ण था. लेकिन अब मैं उन सब बातों को भूलकर आगे बढ़ चुका हूं. चोट से उबरने के बाद मैंने टी-20 मैच भी खेला है.”

पृथ्वी ने साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि आस्ट्रेलियाई दौरे से अनुशासहीनता के कारण नहीं बल्कि टखने की चोट से निर्धारित समय पर उबर नहीं पाने के कारण उन्हें स्वदेश भेजा गया था. उन्होंने कहा, “ये सब केवल अफवाहें हैं. इन बातों पर ध्यान नहीं देना चाहता. चोट के दौरान मैं किस दौर से गुजरा हूं, ये किसी ने नहीं बताया. मैं खेलना चाहता था लेकिन चोटिल हो गया. मुझे लगा कि मैं मेलबर्न में तीसरे टेस्ट में खेल सकता हूं लेकिन चोट से उबरने में मुझे समय लगा. इस कारण मैं ऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीसरे टेस्ट में नहीं खेल सका.”

IPL 2019 से पहले चेन्नई हुई तैयार, धोनी-रैना ने जमकर बहाया पसीना

पृथ्वी ने साथ ही कहा , “चोटिल होने के बाद मैं काफी निराश था. लेकिन इसके बाद मैंने बेंगलुरू में अपना रिहेबिलिटेशन शुरू कर दिया था और मैं दिन-ब-दिन बेहतर होता जा रहा था तथा चोट से धीरे धीरे उबरने की कोशिश कर रहा था. बेंगलुरू में दो महीने की ट्रेनिंग के दौरान में पूरी तरह से चोट से उबर गया था.”

भारत के लिए अब तक दो टेस्ट में 237 रन बनाने पृथ्वी अब चोट से पूरी तरह से उबर चुके हैं और आईपीएल में दिल्ली के लिए फिर से पारी का आगाज करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने आईपीएल के 12वें संस्करण को लेकर कहा, “मेरा पूरा ध्यान अब इस टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने पर है. मैं इस पर योजना पर काम कर रहा हूं कि मैं टीम अपनी टीम के क्या कर सकता हूं. मैं जो कुछ भी टीम के लिए कर सकता हूं वह मैं करना चाहता हूं.”

अश्विन ने एक सवाल के जवाब में याद दिलाया अपना आखिरी वनडे मैच

उन्होंने दिल्ली टीम को लेकर कहा, “टीम इस बार बहुत अच्छी है. यह पहले से काफी संतुलित है. शिक्की भाई (शिखर धवन) के आने से शीर्षक्रम में बल्लेबाजी मबजूत हुई है. गेंदबाजी में हमने पिछले साल अच्छा किया था और ईशांत के आने से गेंदबाज विभाग में भी मजबूती मिली है. कैफ (मोहम्म्द कैफ) सर के टीम से जुड़ने से फील्डिंग साइड भी पहले से अच्छी हुई है.”

युवा बल्लेबाज ने दिल्ली में अपनी भूमिका लेकर कहा, “टीम का प्रत्येक खिलाड़ी जानता है कि टीम में उसकी क्या भूमिका है. यहां पर जो भी खिलाड़ी हैं उन्हें पता है कि उनका क्या काम है. टीम के प्रति हर कोई अपनी जिम्मेदारियों से अवगत हैं और इसमें मैं भी शामिल हूं.”