Vijay Hazare Trophy 2020-21: पृथ्वी शॉ विजय हजारे ट्रॉफी के एक सीजन में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं. शॉ इस सत्र अब तक 7 मैचों में कुल 754 रन बना चुके हैं. इस दौरान शॉ ने 95 चौकों और 21 छक्कों जड़े हैं और उनके नाम एक दोहरा शतक और तीन शतक भी हैं. वहीं देवदत्त पड्डिकल इस मामले में दूसरे पायदान पर हैं, जिनके बल्ले से 737 रन निकले. Also Read - जडेजा-अश्विन एक साथ भी खेल सकते हैं, धीमी पिच के बावजूद वार्न-मुरलीधरन विकेट निकालते थे: सचिन

अंतर्राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने के बाद पृथ्वी शॉ खराब फॉर्म में नजर आए थे, जिसके पश्चात् उन्हें लेकर सवाल खड़े होने लगे थे. शॉ ने खुद बताया था कि ऐसे मुश्किल दौर में खुद महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने उनकी मदद की थी. Also Read - World Blood Donor Day: Sachin Tendulkar ने भी किया रक्तदान, लोगों से की अपील

पृथ्वी शॉ ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि ऑस्ट्रेलिया दौरे से लौटने के बाद वह सचिन तेंदुलकर से मिले और मास्टर ब्लास्टर ने उन्हें ज्यादा बदलाव ना करने की सलाह दी थी. इसके साथ ही तेंदुलकर ने शॉ को शरीर के पास बॉल खेलने की नसीहत भी दी थी. Also Read - India vs Sri Lanka: श्रीलंका दौरे के लिए भारतीय टीम का ऐलान, शिखर धवन करेंगे कप्तानी; यहां देखें Full Squad

शॉ ने कहा था, “मैं बॉल तक देर से पहुंच रहा था. मैंने इस पर काम किया. शायद ये इसलिए हुआ क्योंकि मैं दुबई में आईपीएल खेलने के बाद सीधे ऑस्ट्रेलिया गया था.” इसके बाद पृथ्वी शॉ ने तेंदुलकर की सलाह मानी, जिसका उन्हें फायदा भी मिला. इसके अलावा हेड कोच रवि शास्त्री और बैंटिग कोच विक्रम राठौर ने भी उन्हें गलतियों के बारे में बताया था, जिसके बाद नेट पर शॉ ने इसका समाधान निकाला.

बता दें कि पृथ्वी शॉ ने विजय हजारे ट्रॉफी 2020-21 में 105* (89), 34 (38), 227* (152), 36 (30), 2 (5) 185* (123) और 165 (122) रन की पारी खेली है. इस दौरान उन्होंने तीन पारियों में 150+ का स्कोर भी खड़ा किया है, जिसके दम पर मुंबई फाइनल में अपनी जगह बना चुका है.