मुंबई: महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के साथ ‘बड़ी’ तुलना और रिकी पोंटिंग की सलाह ने प्रतिभाशाली पृथ्वी शॉ को शीर्ष क्रिकेट की चुनौतियों के लिए प्रेरित और मजबूत किया. मार्क वा ने हाल में कहा था कि उन्हें इस युवा बल्लेबाज में तेंदुलकर की तकनीकी दक्षता की याद आती है और पृथ्वी ने कहा कि वह ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज के शब्दों पर खरा उतरने का प्रयास करेंगे.

न्यूजीलैंड में अंडर 19 विश्व कप में भारत की जीत के दौरान टीम की अगुआई करने वाले पृथ्वी ने दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलते हुए इंडियन प्रीमियर लीग में भी अपना प्रभाव छोड़ा. उन्होंने कहा, ‘‘बेशक यह अच्छा लगता है. मैं अपनी तुलना तेंदुलकर से नहीं करता क्योंकि वह अपना 25 साल का अंतरराष्ट्रीय करियर पहले ही पूरा कर चुके हैं और 100 शतक जड़ चुके हैं. इसलिए यह आसान नहीं है. मैंने अभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम भी नहीं रखा है. इसलिए यह मेरे लिए बड़ी चीज है. मैं उम्मीद करता हूं कि उनकी बातों को सही साबित कर पाउंगा और रन बनाता रहूंगा.’’

आईपीएल में नौ मैचों में 245 रन बनाने वाले पृथ्वी ने पोंटिंग की भी जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘‘ मैं उन्हें काफी पंसद करता हूं. उन्होंने हमें सलाह दी है कि सिर्फ अपने खेल का लुत्फ उठाओ. जब मैंने आईपीएल में पदार्पण किया तो मैं नर्वस था क्योंकि मेरे आसपास लोग थे और कैमरा मेरे ऊपर था.’’

पृथ्वी ने कहा, ‘‘यह पहली बार नहीं था (जब मैं लाइव प्रसारित होने वाले मैच में खेल रहा था) लेकिन मैं दबाव महसूस कर रहा था. हालांकि पोंटिंग के सकारात्मक शब्द सुनने के बाद मैंने अच्छा प्रदर्शन किया और अपने खेल का लुत्फ उठाया.’’ पृथ्वी ने कहा कि एबी डिविलियर्स जैसे महान खिलाड़ियों के साथ खेलना उनके लिए काफी अच्छा अनुभव रहा.

इंग्लैंड दौरे के लिए भारत ए टीम में चुने गए पृथ्वी ने कहा कि वह पहले भी इस देश का दौरा कर चुके हैं और इस चुनौती के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मैं छठी या सातवीं बार इंग्लैंड जा रहा हूं. मुझे वहां खेलने का अनुभव है, मुझे पता है विकेट कैसा बर्ताव करेंगे, हालात कैसे होंगे. ईमानदारी से कहूं तो मैं इसके लिए तैयार हूं. बेशक हम जब वहां जाएंगे तो हालात अलग होंगे. यह आसान नहीं होगा.’’