हैदराबाद। प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) इतिहास के सबसे सफल रेडर राहुल चौधरी के नेतृत्व में खेल रही तेलुगू टाइटंस टीम को सीजन-5 में बुधवार को लगातार चौथी हार का सामना करना पड़ा. वहीं दूसरी तरफ बंगाल वॉरियर्स ने एक शानदार जीत के साथ इस संस्करण का विजयी आगाज किया है. गाचीबावली स्टेडियम में खेले गए इस मैच में बंगाल ने टाइटंस को 30-24 से मात दी. Also Read - होंडा ने लॉन्च किया स्पोर्टी लुक और नए फीचर्स वाला एक्स-ब्लेड एबीएस, जानिए कीमत और अन्य खासियतें

टाइटंस ने लीग की नई टीम तमिल थालाइवाज को मात देकर इस सीजन की शुरुआत जीत के साथ की थी, लेकिन इसके बाद उसे पटना पाइरेट्स, बेंगलुरू बुल्स और यूपी योद्धा ने मात दी थी. टाइटंस के लिए इस मैच में सबसे ज्यादा नौ अंक विकास ने लिए. राहुल ने पांच अंक जुटाए. बंगाल से मनिंदर सिंह ने 11 और दक्षिण कोरियाई खिलाड़ी जांग कुंग ली ने आठ अंक लिए. Also Read - प्रो कबड्डी 2018: तेलगु टाइटंस ने तमिल थलाइवाज को हराया, राहुल-मोहसीन का शानदार प्रदर्शन

मुकाबला शुरू से रोचक रहा और दोनों टीमों ने अंक लेने के मौकों को अच्छे से भुनाया. कुन ली ने बंगाल के खाते में पहला अंक डाला, लेकिन अगले ही पल विकास ने सफल रेड मारते हुए टाइटंस को बराबरी पर ला दिया. कुछ देर तक इसी तरह एक टीम के आगे निकलने और दूसरी टीम के बराबरी करने का खेल चलता रहा. Also Read - प्रो-कबड्डी लीग-6 : तमिल थलाइवाज ने मौजूदा चैम्पियन पटना पाइरेट्स को किया चित

3-3 के स्कोर पर आने के बाद राहुल चौधरी ने चौथे मिनट में दो अंक लेकर टाइटंस को आगे कर दिया. लेकिन पांचवें मिनट में मनिंदर सिंह ने सफल रेड से तीन अंक लिए और बंगाल को 7-6 की बढ़त दिला थी. इस अहम बढ़त को बंगाल ने पहले हाफ के अंत तक कायम रखा और 19-14 के स्कोर के साथ ब्रेक में गई.

दूसरे हाफ में टाइटंस की टीम दबाव में खेली और बंगाल ने उस पर 22-14 की बढ़त ले ली, लेकिन टाइटंस ने लगातार चार अंक लेकर स्कोर 18-22 कर वापसी की कोशिश की. हालांकि उसका यह प्रयास असफल साबित रहा और बंगाल ने अंक लेने का सिलसिला एक बार फिर शुरू किया और टाइटंस को चौथी हार दी. हालांकि अंत में टाइटंस ने कुछ और अंक लेकर जीतने की कोशिश की, लेकिन वह हार का अंतर कम करने वाले साबित हुए.

रेड से टाइटंस ने 16 और बंगाल ने 19 अंक लिए. टैकल से टाइटंस ने सात जबकि बंगाल ने छह अंक हासिल किए. बंगाल दो ऑल आउट अंक लेने में सफल रही जबकि टाइटंस एक भी बार बंगाल को ऑल आउट नहीं कर सकी. बंगाल के हिस्से तीन अतिरिक्त अंक आए जबिक टाइंटस ने एक अतिरिक्त अंक हासिल किया.