नई दिल्ली: पूर्व भारतीय क्रिकेटर कपिल देव का मानना है कि विश्वकप में भारत को पाकिस्तान से खेलना चाहिए कि नहीं इसे सरकार को तय करने देना चाहिए. कपिल देव ने कहा कि भारत सरकार जो भी फैसला करेगी वह देश के हित में होगा. शुक्रवार को पुणे में एक कार्यक्रम के दौरान कपिल देव ने कहा, खेलना या न खेलना एक ऐसी चीज है, जिसका फैसला हम जैसे लोगों को नहीं करना है. इसे सरकार को तय करना है. बेहतर होगा कि हम एक राय न दें और इस पर सरकार लेने दें. हमे वही करना चाहिए जो सरकार चाहती है. कपिलदेव का बयान उस संदर्भ में आया है जब पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तान की भूमिका को लेकर पाकिस्तान के साथ क्रिकेट संबंधों को तोड़ने के लिए देश के एक बड़े हिस्से में मांग हो रही है. इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे.

पुलवामा हमला: ट्रंप ने कहा-भारत और पाकिस्तान के बीच हालात बेहद खराब, चाहते हैं जल्द खत्म हो दुश्मनी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने शुक्रवार को क्रिकेट खेलने वाले बाकी देशों से कहा है कि वह आंतक को बढ़ावा देने वाले देशों के खिलाफ सख्त कदम उठाएं. बीसीसीआई ने हालांकि इंग्लैंड में इसी साल होने वाले आईसीसी विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच खेलने पर कोई अंतिम फैसला नहीं लिया है. बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को पत्र लिखकर कहा है कि वह आईसीसी टूर्नामेंट्स में भारतीय खिलाड़ियों की सुरक्षा पर ध्यान दे.

पुलवामा हमला: अमेरिका ने कहा- पाकिस्तान के खिलाफ भारत कुछ बड़ा करने की सोच रहा है

जौहरी ने यह पत्र सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) के आदेश के बाद लिखा है.इस पत्र में जौहरी ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना लिखा है इस पत्र में बीसीसीआई की वह सभी चिंताएं हैं जो हाल ही में भारतीय जमीन पर हुए हमले के बाद सामने आई हैं. इस हमले में 44 से ज्यादा भारतीय सुरक्षा सैनिकों की जान चली गई थी. पत्र में लिखा है, इस आतंकी हमले के बाद बीसीसीआई को इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप और भविष्य में होने वाले आईसीसी टूर्नामेंट्स में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों, मैच अधिकारियों की सुरक्षा की चिंता है.

जेटली बोले-पाकिस्तान के खिलाफ हर उपाय करेंगे, पाक आर्मी चीफ ने सेना से कहा-तैयार रहें

उन्होंने कहा, आईसीसी के अधिकतर सदस्यों (जिसमें इंग्लैंड भी शामिल है) ने इस हमले की निंदा की है और भारत का साथ दिया है. बीसीसीआई क्रिकेट खेलने वाले सभी देशों से आग्रह करता है कि वह आतंकवाद को पनाह देने वाले देशों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें. सीईओ ने साथ ही आईसीसी से गुजारिश की है कि वह आईसीसी टूर्नामेंट्स में भारतीय खिलाड़ियों को उच्च स्तरीय सुरक्षा मुहैया कराए.