नई दिल्ली : एफसी पुणे सिटी की टीम इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन के एक अहम मुकाबले में रविवार को गोवा में जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में एफसी गोवा का सामना करेगी. पुणे को एक ऐसी टीम के खिलाफ उसी के घर में खेलना है, जिनसे अपने पिछले मैच में मुंबई सिटी एफसी को 5-0 से हराया था. यह मैच पुणे के लिए अभी तक की सबसे बड़ी चुनौती है. पुणे के सामने गोवा को हराने की चुनौती इसलिए भी है क्योंकि पिछले मैच के बाद उसने अपने कोच मिग्वेल एंजेल पुर्तगाल को अलविदा कह दिया था. Also Read - India vs New Zealand, 2nd ODI: ऑकलैंड वनडे में इन 2 बदलाव के साथ उतर सकता है भारत

शुरुआती तीन मैचों में पुणे को दो हार मिली है, जबकि उसका एक मैच ड्रॉ रहा है. एमिलियानो एल्फारो और मार्सेलिन्हो जैसे स्ट्राइकरों के रहते पुणे गोल नहीं कर पाई. तीन मैचों में इस टीम ने सिर्फ एक गोल किया है. बीते सीजन के सबसे सफल अटैकरों से सुसज्जित इस टीम की नाकामी इसी बात से बयां होती है. Also Read - IND v WI 3rd T20: निर्णायक T20 में इस प्लेइंग इलेवन के साथ उतर सकती है टीम इंडिया

पुणे के अंतरिम कोच प्रद्युम्न रेड्डी ने कहा, ‘‘हमारे पास ऐसे स्ट्राइकर हैं, जो गोल्डन बूट या फिर टॉप एसिस्ट के हकदार हैं. यह बस समय की बात है. एक बार हमारे स्ट्राइकर लय हासिल कर लें तो फिर वे अनेकों गोल कर सकते हैं.’’ Also Read - लीड्स टेस्ट: स्मिथ के बिना ही उतरेगी टीम ऑस्ट्रेलिया, बढ़त बनाए रखने की रहेगी कोशिश

भारतीय क्रिकेटरों के घर जमकर मना करवाचौथ का त्योहार, देखें तस्वीर

पुर्तगाल की गैरहाजिरी में रेड्डी के सामने अपनी टीम को प्रेरित करने की चुनौती है क्योंकि उसका सामना ऐसी टीम से होना जा रहा है, जिसके पास फेरान कोरोमिनास और हुगो बोउमोस जैसे शानदार स्ट्राइकर हैं. रेड्डी ने कहा कि बीते सीजन में गोवा पर मिली जीत से उनकी टीम प्रेरणा हासिल कर रही है.

रेड्डी बोले, ‘‘हम जिस तरह के हालात में हैं, ऐसे में खिलाड़ियों का चयन आसान नहीं. ऐसे में हम तो बस यही कर सकते हैं कि हमने बीते साल दिसम्बर में गोवा में हुए मैच की रिकार्डिंग देखी, जिसमें हमने गोवा को हराया था. उस मैच में हमने शानादर अटैकिंग टीम के खिलाफ गोल होने से भी बचाया था. हमने वह मैच 2-0 से जीता था लेकिन हम वह मैच असल में 3-0 या फिर 4-0 से जीत सकते थे. यह बात हमें ताकत दे रही है.’’

एफसी गोवा इस साल लीग में अपने प्रदर्शन से दूसरी टीमों को कड़ा संदेश दिया है. इस टीम ने जिस तरह मुम्बई को हराया है, वही सही मायने में दूसरी टीमों के लिए आंख खोलने का समय है. इस टीम ने अब तक तीन मैचों में कुल 10 गोल किए हैं.

विराट के निशाने पर अब पाकिस्तान का रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले बने एशिया के सबसे तेज बल्लेबाज

कोच सर्गियो लोबेरा हालांकि इस बात को अपने लिए जीत का कारण नहीं मानते. वह पुणे के खिलाफ कठिन मुकाबले की उम्मीद कर रहे हैं. इसका कारण यह है कि टीम तालिका में 10वें स्थान पर काबिज पुणे की टीम ऊपर उठने के लिए अपना पूरा दमखम झोंकना चाहेगी. लोबेरा ने कहा, ‘‘मैं किसी भी लिहाज से यह नहीं मानता कि हम पुणे को हरा सकते हैं. अगह हम अपना 100 फीसदी नहीं दे सके तो हम कल का मैच नहीं जीत सकते.’’

स्पेनिश कोच अंक तालिका को नहीं देख रहे हैं, जहां पुणे की टीम सबसे नीचे काबिज है. लोबेरा ने कहा, ‘‘मैं नहीं समझता कि अंक तालिका से पुणे की टीम की शक्तियों का असल अंदाजा लगाया जा सकता है. यह एक अच्छी टीम है और मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि यह खिताब के लिए पूरा दमखम लगाएगी.’’ एफसी गोवा को ब्रेंडन फनार्देस की फिटनेस में वापसी से बल मिला है. ऐसे में वह पुणे को रविवार को हराते हुए अंक तालिका में टॉप पर जाना चाहेगी.