नई दिल्ली। आईपीएल में पंजाब किंग्स इलेवन का धुआंधार प्रदर्शन जारी है. कमजोर समझी जा रही इस टीम ने टूर्नामेंट में दो ऐसी धुरंधरों को धूल चटाई है जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी. अपने तीसरे मैच में पंजाब ने दो बार की चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स को 4 रनों से हराया. पंजाब ने जीत का सिलसिला बरकरार रखते हुए चौथे मैच में सबसे मजबूत समझी जा रही टीम हैदराबाद सनराइजर्स को 15 रनों से हराया. इस धमाकेदार प्रदर्शन के बाद चारों तरफ पंजाब टीम की ही चर्चा है. माथापच्ची इस बात पर हो रही है कि आखिर कैसे मामूली नजर आने वाली पंजाब की टीम ने हैदराबाद और चेन्नई जैसी धाकड़ टीमों को पानी पिला दिया.

पंजाब का शानदार सफर
आईपीएल में पंजाब का का सफर इतना शानदार कभी नहीं रहा है जब उसने दो धुरंधर टीमों को हराया हो. दो साल बाद आईपीएल में वापसी कर रही चेन्नई को 4 रन से हराकर सनसनी मचाई. लेकिन आर अश्विन की टीम इतने में ही नहीं रुकी, अगले मैच में उसने हैदराबाद को निपटा दिया. जिस हैदराबाद को टूर्नामेंट की सबसे मजबूत आक्रमण वाली टीम समझा जा रहा था, पंजाब ने उसकी धज्जियां उड़ा दीं. इस टीम के खिलाफ पंजाब ने 193 रन बनाए.

शानदार टीम संयोजन

क्यों पंजाब की टीम ने बाकी टीमों की नींद हराम कर रखी है, ये समझने के लिए टीम का संयोजन समझना जरूरी है. पंजाब ने इस बार वीरेंद्र सहवाग को अपना मेंटोर नियुक्त किया. सहवाग की सलाह का ही असर था कि टीम से क्रिस गेल को जोड़ा गया जिन्हें सभी ने नकार दिया था. पिछले सीजन में गेल रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरू की तरफ से खेले थे और बुरी तरह फ्लॉप रहे थे. शायद यही वजह है कि बैंगलुरू सहित किसी भी टीम ने उन्हें दो बार बोली लगने के बावजूद नहीं खरीदा.

गेल ने जमाया रंग

गेल तीसरी बार में बिके, उन्हें पंजाब ने उनके बेस प्राइस 2 करोड़ में खरीदा. गेल ने धुरंधर टीमों के खिलाफ अपने दो मैचों में मैच जिताऊ पारी खेलकर बता दिया कि पंजाब का दांव कितना सही था. चेन्नई के खिलाफ उन्होंने 33 गेंदों में 66 रन बनाए तो हैदराबाद के खिलाफ ताबड़तोड़ शतक जमाया. जीत के लिए तरस रही बैंगलुरू को शायद अब मलाल हो रहा होगा कि उसने गेल को क्यों जाने दिया.

राहुल-नायर की सुपरहिट जोड़ी

पंजाब का दूसरा मास्टरस्ट्रोक था केएल राहुल. राहुल भी पिछले सीजन तक बैंगलुरू के लिए ही खेलते थे, लेकिन इस बार उन्हें जाने दिया. पंजाब ने ये मौका लपक लिया और नतीजा सामने है. राहुल ने पहले ही मैच में आईपीएल की सबसे तेज फिफ्टी जमा दी. उनकी तेज पारियां पंजाब को शुरुआती बढ़त दिला रही है. पंजाब ने घरेलू क्रिकेट के नंबर वन बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को अपने साथ जोड़कर टीम को मजबूती दी. पिछले सीजन में दिल्ली की टीम में रहे करुण नायर को भी अपने साथ जोड़ा. ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ बल्लेबाजी आरोप फिंच को खरीदकर पंजाब ने एक और दांव.

अश्विन की आक्रामक कप्तानी

वहीं, आर अश्विन को खरीदकर गेंदबाजी को धार दी. अश्विन को कप्तान बनाकर बाकी टीमों को चौंकाया भी. अश्विन अपनी आक्रामक कप्तानी से बाकी टीमों को चौंका रहे हैं. अश्विन का साथ देने के लिए टीम में स्पिनर अक्षर पटेल और मोहित शर्मा, एंड्रयू टाय और बरिंदर स्राण जैसे तेज गेंदबाज शामिल हैं. अब यही खिलाड़ी बाकी टीमों के लिए खतरे की घंटी बन गई है.