नई दिल्ली : एशियाई खेलों के स्वर्ण पदकधारी बजरंग पूनिया ने ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए रविवार को लुधियाना में दिल्ली सुल्तांस के आंद्रे क्वितकोवस्की के खिलाफ निर्णायक बाउट अपने नाम की और प्रो कुश्ती लीग में गत चैम्पियन पंजाब रॉयल्स को पहली जीत दिलायी. यह 65 किग्रा वर्ग का निर्णायक मुकाबला दो विश्व चैम्पियनशिप के पदकधारियों के बीच था जिसमें बजरंग ने आंद्रे को पराजित कर बाजी मारी. Also Read - कोरोना के डर से महिला पहलवान विनेश फोगाट ने नेशनल कैंप से किया किनारा, WFI नाराज

Also Read - 'हम सभी COVID-19 Lockdown में हैं लेकिन मैंने एक दिन भी Practice नहीं छोड़ी'

छठी बाउट में रियो ओलंपिक की कांस्य पदकधारी दिल्ली की साक्षी मलिक को 2018 राष्ट्रीय चैम्पियनशिप की रजत पदकधारी पंजाब की अनीता को 11-0 से हराने में जरा भी पसीना नहीं बहाना पड़ा जिससे मुकाबले का फैसला निर्णायक बाउट तक चला गया. Also Read - कोरोनाकाल में देश में फिर से खेल को शुरू करने के बारे में खिलाड़ियों ने दी प्रतिक्रिया, जानिए किसने क्या कहा

इससे पहले दिल्ली सुल्तांस के रूसी पहलवान खेतिक साबालोव ने शाम की पहली बाउट जीती. उन्होंने एशियाई चैम्पियनशिप के कांस्य पदकधारी विनोद कुमार को 14-0 से मात दी. पंजाब रायल्य की 2018 यूरोपीय चैम्पियनशिप की कांस्य पदकधारी सिंथिया वेस्कान ने 2018 यूरोपीय अंडर 23 चैम्पियनशिप की स्वर्ण पदकधारी अनास्तासिया शुस्तोवा की चुनौती को पस्त करते हुए 2-1 से जीत दर्ज कर गत चैम्पियन को बराबरी पर ला दिया.

INDvsNZ: न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे में टीम इंडिया के ये आंकड़े खतरे के संकेत

पुरूषों के 86 किग्रा वर्ग में पंजाब रॉयल्स के 2016 यूरोपीय चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता दातो मागारिश्विली ने पिछले साल के राष्ट्रीय चैम्पियन प्रवीण पर 12-0 से तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर महज दो मिनट में शानदार जीत दर्ज की. राष्ट्रीय चैम्पियन पिंकी ने 53 किग्रा की बाउट में राष्ट्रीय चैम्पियनशिप की उप विजेता पंजाब रॉयल्स की अंजू को 9-4 से पराजित किया. पंजाब रॉयल्स के पिछले साल राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदबधारी कोरे जार्विस ने 125 किग्रा बाउट में सतेंदर मलिक पर 7-2 से जीत हासिल की.