भारत की अग्रणी महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु ने शुक्रवार को यहां जारी वर्ल्ड सुपर सीरीज फाइनल्स के अपने तीसरे ग्रुप मुकाबले में स्पेन की कैरोलिना मारिन को हरा दिया। Also Read - कई टीमों के टूर्नामेंट से नाम वापस लेने के बाद BWF ने थॉमस और उबेर कप को किया स्थगित, जानें पूरी डिटेल

सिंधु ने ग्रुप-बी में स्पेनिश खिलाड़ी को सीधे गेमों में 21-17, 21-13 से मात दी। यह मुकाबला 46 मिनट चला। Also Read - BAI अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद इस टूर्नामेंट में खेलने को तैयार हुईं वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधू

सिंधु ने इसी के साथ ही मारिन से रियो ओलम्पिक-2016 के फाइनल में मिली हार का बदला ले लिया। मारिन ने ओलम्पिक फाइनल में सिंधु को हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया था और सिंधु को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा था। Also Read - 4 महीने बाद वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधू सहित ये भारतीय शटलर लौटे कोर्ट पर, लंबे ब्रेक को लेकर कही ये बात

23 साल की स्पेनिश खिलाड़ी का यह टूर्नामेंट अच्छा नहीं रहा। वह पहले ही लगातार दो मैच हार कर सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो चुकी हैं। उनके लिए यह मुकाबला सम्मान की लड़ाई का था जिसमें उन्हें मात मिली।

वहीं दूसरी तरफ सिंधु के लिए यह मुकाबला अपनी विपक्षी को मात देने से कहीं ज्यादा का था।

सिंधु इसी इरादे के साथ कोर्ट पर उतरीं और शुरू से ही शानदार खेल खेला। स्पेनिश खिलाड़ी ने भारतीय खिलाड़ी पर 7-3 की बढ़त ले ली थी लेकिन सिंधु ने शानदार वापसी करते हुए बराबरी की और फिर 8-7 से आगे हो गईं।

मारिन ने दोबारा बढ़त हासिल करते हुए स्कोर 10-8 कर लिया, लेकिन सिंधु ने 11 अंक तक बराबरी कर ली। गेम के बीच में ब्रेक के बाद सिंधु ने और बेहतर खेल दिखाया और मारिन को चित्त किया।

दूसरे गेम में भी सिंधु ने आक्रामक शुरुआत की और 9-5 की बढ़त ले ली जिसे उन्होंने जल्द ही 13-6 में बदल दिया।

मारिन इस गेम में कुल 13 अंक की अर्जित कर सकीं।

सिंधु ने बुधवार को अपने पहले राउंड रोबिन मैच में जापान यामागुची को 12-21, 21-8, 21-15 के अंतर से हराया था। दूसरे ग्रुप मैच में गुरुवार को सिंधु को चीन की यू सुन ने राउंड रोबिन मुकाबले में 21-15, 21-17 से हराया था।