नई दिल्ली: बीडब्ल्यूएफ बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाली भारत की स्टार महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने मंगलवार को को पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. वीडिया में दिखाई दे रहा है कि सिंधु ने अपना मेड‍ल पीएम मोदी के हाथ में रख दिया. वीडियो में पोज देते हुए प्रधानमंत्री ने अपने हाथों से मेडल लेकर सिंधु को पहनाया. इसके बाद पीएम और सिंधु के बीच बातचीत होती नजर आ रही है. प्रधानमंत्री ने सिंधु को बधाई दी और सुनहरे भविष्‍य के लिए शुभकामनाएं दी. Also Read - Bhiwandi Building Collapses: राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने भिवंडी में इमारत गिरने से हुई 10 लोगों की मौत पर दुख जताया

Also Read - अच्छी खबर! दिल्ली में कोरोना के पांच दिन बाद चार हजार से कम दैनिक मामले

बता दें स्विटजरलैंड में बीते 25 अगस्‍त को बीडब्ल्यूएफ बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाली भारत की स्टार महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु रात में भारत लौटी हैं. स्वदेश लौटने के बाद उन्‍होंने दिल्‍ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. Also Read - पॉस्को में गिरफ्तार व्यक्ति की हिरासत में मौत, दिल्ली पुलिस ने कहा- बेडशीट के सहारे लगाई फांसी

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर सिंधु के साथ मुलाकात की फोटो पोस्ट की है और फोटो के साथ लिखा है, “यह भारत के लिए गर्व की बात है. एक चैम्पियन ने गोल्ड जीता. पीवी सिंधु से मिलकर खुशी हुई. उन्हें बधाई और उनके सुनहरे भविष्य के लिए शुभकामनाएं.”

स्वदेश लौटी वर्ल्‍ड चैंपियन सिंधू का जोरदार स्वागत, कहा-अभी उसी अहसास में जी रही हूं

इससे पहले सिंधु केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू से भी मिलीं. रिजिजू ने कहा कि सिंधु ने बीडब्ल्यूएफ विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर भारत को गौरवान्वित किया है. केंद्रीय खेल मंत्री ने सिंधु को 10 लाख रुपए का चेक दिया.

ओलम्पिक रजत पदक विजेता सिंधु ने रविवार को स्विट्जरलैंड के बासेल में हुई बीडब्ल्यूएफ बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी जापान की नोजोमी ओकुहारा को 21-7, 21-7 से हराकर चैम्पियनशिप में पहली बार स्वर्ण पदक जीता. सिंधु टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनीं.

इससे पहले सिंधु इस टूर्नामेंट में लगातार दो बार (2017 और 2018) फाइनल में हारी थीं. लेकिन, इस बार उन्होंने इस गतिरोध को तोड़ा और बैडमिंटन में पहली भारतीय विश्व चैम्पियन बन गईं. सिंधु मंगवार की सुबह भारत आईं. उन्होंने इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मीडियाकर्मियों से बात भी की.