भारत की पहली विश्व बैडमिंटन चैम्पियन पी वी सिंधू ने बुधवार को कहा कि उनका अगला लक्ष्य टोक्यो ओलंपिक 2020 में स्वर्ण पदक जीतना है और इसके लिए उन्हें काफी मेहनत करनी होगी.

भारत ने टॉस जीतकर चुनी बल्लेबाजी, हनुमा विहारी की जगह उमेश यादव टीम में

केरल सरकार और प्रदेश ओलंपिक संघ द्वारा किए गए सम्मान समारोह से इतर सिंधू ने कहा कि आगामी डेनमार्क ओपन और पेरिस ओपन ओलंपिक के क्वालीफायर की तरह होंगे.

उन्होंने कहा, ‘मेरा लक्ष्य ओलंपिक स्वर्ण जीतना है लेकिन यह आसान नहीं होगा. मुझे और मेहनत करनी होगी. ओलंपिक से पहले डेनमार्क ओपन और पेरिस ओपन है जो ओलंपिक क्वालीफायर की तरह होंगे.’

श्रीलंका ने वर्ल्ड की नंबर वन टीम पाकिस्तान का किया सूपड़ा साफ

सिंधू ने कहा,‘जीत और हार खेल का हिस्सा है. कई बार आप जीतते हैं तो कई बार हारते हैं. मैने अपनी गलतियों से सबक सीखा है और डेनमार्क ओपन में अच्छा प्रदर्शन करूंगी.’

रियो ओलंपिक 2016 में वह स्पेन की कैरोलिना मारिन से फाइनल हार गई थीं. सिंधू ने इससे पहले पद्मनाभन मंदिर में पूजा अर्चना की. प्रदेश ओलंपिक संघ ने उन्हें दस लाख रूपये का चेक दिया.