धर्मशालाः कप्तान विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ धर्मशाला से नई परीक्षा शुरू होगी. दोनों ही टीमें इस सीरीज में अपना पूरा दमखम दिखाने की कोशिश करेंगी. भारतीय टीम विश्व कप 2019 से ही फार्म में है और उसने वेस्टइंडीज दौरे में टेस्ट, वनडे और टी20 सीरीज अपने नाम की है. भारत के लिए यह सीरीज उतनी आसान नहीं होगी क्योंकि दक्षिण अफ्रीकी टीम में भी कुछ ऐसे खिलाड़ी है जो अपने दम पर पूरे मैच का रुख बदल सकते हैं. भारत को ऐसे खतरनाक खिलाड़ियों के लिए एक विशेष रणनीति की जरूरत होगी.

अब दिवाली में नहीं लगेंगे बल्लेबाजों के चौके-छक्के, BCCI और ब्रॉडकास्टर ने लिया ये फैसला

विश्व कप में खराब प्रदर्शन के बाद दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड ने कई परिवर्तन किए हैं जिसमें बड़ा निर्णय युवा विकेट कीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक को कप्तान बनाने का था. डिकॉक भारत के लिए एक बड़ा खतरा हो सकते हैं. डिकॉक एक ऐसे अफ्रीकी खिलाड़ी हैं जिनका भारत के खिलाफ रिकॉर्ड काफी अच्छा है और वे भारत के खिलाफ खेलना पसंद करते हैं. डिकॉक आईपीएल की टीम मुंबई इंडियंस के भी सदस्य है जिसकी वजह से वे भारतीय परिस्थितियों से भी भली भांति परिचित हैं.

मैच से पहले डेविड मिलर के आक्रामक तेवर, कहा- हमारे पास भी युवा टीम है और हम यहां…

वहीं दूसरी तरफ डेविड मिलर ऐसे बल्लेबाज के हैं जो पल भर में मैच का रुख बदल सकते हैं. मिलर हमेशा ही आक्राक खेल के लिए जाने जाते हैं. भारत को उनकी कमजोर कड़ी पर वार करना होगा. वहीं फेलुकवायो भी तेज पारी खेल सकते हैं. अगर गेंदबाजी की बात करें तो भारत को रबाडा के खिलाफ संभल कर खेलना होगा. रबाडा का अच्छा स्पैल और डेविड मिलर का प्रदर्शन भारतीयों के लिए चुनौती पेश कर सकता है जबकि फाफ डु प्लेसिस और हाशिम अमला की अनुपस्थिति में कुछ अन्य टेस्ट विशेषज्ञ जैसे टेम्बा बावुमा या एनरिक नार्जे अपनी अहमियत साबित करना चाहेंगे.

स्टीव स्मिथ ने दर्ज किया एक और रिकॉर्ड, टेस्ट क्रिकेट इतिहास के बने पहले बल्लेबाज

आपको बता दें भारत ने टी20 मैचों के लिए तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को आराम दिया है ऐसे में भारत को अपनी गेंदबाजी कड़ी को भी मजबूत बनाना होगा. हालांकि भारत के पास युवा वाशिंगटन सुंदर के रूप में बैक-अप ‘फिंगर स्पिनर’ मौजूद है तो सवाल उठता है कि कुलदीप और चहल का स्थान टी20 टीम में कहां है.