विश्व के नंबर-2 टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल (Rafael Nadal) ऑस्ट्रेलिया के एलेक्सी पोपिरिन को हराकर मैड्रिड ओपन के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। नडाल को हाल ही में लॉरियस स्पोर्ट्स की तरफ से वर्ल्ड स्पोर्ट्समैन ऑफ द ईयर का अवार्ड मिला है।Also Read - चोट के कारण मॉन्ट्रियल इवेंट से हटे राफेल नडाल, US Open के लिए फिट होने पर ध्यान

स्पेन के दिग्गज खिलाड़ी नडाल ने पोपिरिन को 6-3, 6-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। नडाल टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में 15वीं बार पहुंचे हैं। नडाल का अगले दौर में सामना 2018 के चैंपियन एलेक्जांदेर ज्वेरेव और डेनियल इवान के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता खिलाड़ी से होगा। Also Read - कोविड वैक्सीन ना लगवाने के बावजूद यूएस ओपन और ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलना चाहते हैं नोवाक जोकोविच

नडाल ने कहा, “ये काफी कठिन था। कोर्ट में स्लिप बहुत थी और काफी तेजी थी। मैच का शुरूआती दौर काफी चुनौतीपूर्ण था। मैं अपनी जीत से खुश हूं।” Also Read - आठवीं बार विंबलडन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे राफेल नडाल

विश्व के नंबर-3 खिलाड़ी डेनिल मेदवेदेव को क्रिस्टियन गारिन के हाथों हार का सामना करने के साथ ही टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा। गारिन ने मेदवेदेव को 6-4, 6-7(2), 6-1 से हराया।

वहीं महिला खेलों में विश्व की नंबर-1 खिलाड़ी एश्ले बार्टी ने पाउला बादोसा को 6-4, 6-3 से हराकर मैड्रिड ओपन के फाइनल में जगह बना ली है। फाइनल में उनका सामना रूस की अनास्तास्यिा पावलउिचेंकोवा या बेलारूस की अरिना सबालेंका के बीच एक अन्य सेमीफाइनल की विजेता खिलाड़ी से होगा।

बार्टी तीसरी ऐसी महिला खिलाड़ी हैं जो शीर्ष रैकिंग में रहकर मैड्रिड ओपन के खिताब के करीब है। उनसे पहले दिनारा साफिना (2009) और सेरेना विलियम्स (2013) ने यह उपलब्धि हासिल की थी। बार्टी ने कहा, “मैं फाइनल को लेकर काफी उत्साहित हूं। मैंने क्ले के बारे में काफी कुछ सीखा है और इसमें कोई शक नहीं है।”

कोरोना महामारी के बाद बार्टी को सिर्फ एक बार हार का सामना करना पड़ा है। उन्हें बादोसा ने चार्लेस्टोन के क्वार्टर फाइनल में 4-6, 3-6 से हार का सामना करना पड़ा था। बार्टी ने हालांकि मैड्रिड ओपन में बादोसा से हार का बदला लिया।