एलेक्जैंडर जेवरेव की डेनिल मेदवेदेव पर जीत के बाद भले ही राफेल नडाल (Rafael Nadal) का एटीपी फाइनल्स खिताब जीतने का सपना भी टूट गया हो लेकिन स्पेन का ये खिलाड़ी अब भी साल के आखिर तक विश्व का नंबर एक खिलाड़ी बना रहेगा.

नडाल के नंबर एक रैंकिंग पर बरकरार रहने के पीछे एक और दिग्गज खिलाड़ी रोजर फेडरर का हाथ हैं.एटीपी फाइनल्स के दूसरे ग्रुप में नोवाक जोकोविच को हराकर फेडरर ने नडाल का नंबर एक पर बने रहना निश्चित किया.

ये पांचवां मौका होगा जब नडाल साल के आखिर में नंबर एक बने रहेंगे. इसके साथ वो फेडरर और जोकोविच की बराबरी कर लेंगे.चोट से जूझने के बाद लंदन आने वाले स्पेनिश खिलाड़ी की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और उन्हें टूर्नामेंट के पहले मैच में मौजूदा चैंपियन जेवरेव के खिलाफ सीधे सेटों में हार का सामना करना पड़ा. जिसके बाद नडाल ने शानदार वापसी की और पहले मेदवेदेव और फिर स्टेफनोस सिटसिपास को हराया लेकिन सेमीफाइनल में जगह नहीं बना सके.

मोहिंदर अमरनाथ ने इस बल्लेबाज की जमकर की तारीफ, “क्लासिक टेस्ट बैट्समैन” की दी उपाधि

विश्व में नंबर एक खिलाड़ी नडाल ने स्टेफेनोस सिटसिपास से पहला सेट गंवाने के बाद वापसी करके 6-7 (4/7), 6-4, 7-5 से जीत दर्ज की लेकिन सेमीफाइनल में उनकी जगह अगले मैच पर निर्भर थी.जेवरेव की मेदवेदेव पर 6-4, 7-6 (7/4) से जीत का मतलब है कि वो आंद्रे अगासी ग्रुप से सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहे.

सिटसिपास पहले ही इस ग्रुप से अंतिम चार में पहुंच गए थे. सिटसिपास इस ग्रुप से शीर्ष पर रहे और वो सेमीफाइनल में छह बार के चैंपियन रोजर फेडरर से भिड़ेंगे. जेवरेव का सामना ब्योर्न बोर्ग ग्रुप से शीर्ष पर रहे डोमिनिक थीम से होगा. फेडरर इस ग्रुप में दूसरे स्थान पर रहे थे.