चेन्नई: भारतीय टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने शनिवार को टीम इंडिया के मौजूदा बॉलिंग अटैक की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह टेस्ट मैच में 20 विकेट ले सकती है. अपने करियर में भारतीय टीम के ‘द वॉल’ कहे जाने वाले द्रविड़ ने कहा कि गेंदबाजी आक्रमण में यह क्षमता हो तो टीम को बेहतर करने का प्रोत्साहन मिलता है.

द्रविड़ ने कहा, ‘‘हम जिस तरह की गेंदबाजी कर रहे हैं, उसे देखना शानदार है. हम लगातार 20 विकेट ले रहे हैं और हम प्रत्येक टेस्ट में 20 विकेट लेते दिख रहे हैं.’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘जब आप टेस्ट में शुरुआत करते हैं और अपने गेंदबाजी आक्रमण 20 विकेट लेने की क्षमता का भरोसा होता है तो इससे बड़ा प्रोत्साहन मिलता है. इस समय हमारे पास चार या पांच तेज गेंदबाज हैं. तेज गेंदबाजी विभाग की बेंच स्ट्रेंथ भी काफी अच्छी है.’’

Aus Vs Ind: लियोन को बल्लेबाजों से अब भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद, एक्सपर्ट कह रहे ज्यादा विकल्प भी नहीं

भारत ए और अंडर-19 टीमों के कोच द्रविड़ ने चेतेश्वर पुजारा की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में शानदार फॉर्म की भी तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘‘वह सीरीज में अभी तक शानदार रहा है. अगर हम रविवार को जीत जाते हैं तो दो टेस्ट मैचों में उसकी दो मैच विनिंग पारियां हो जाएंगी. मुझे लगता है कि यह शानदार है.’’

बूम-बूम वैरिएशन, नतीजा कंफ्यूजन: इन छह गेंदों से समझिए बुमराह ने कैसे किया शॉन मार्श का शिकार

पुजारा ने तीसरे टेस्ट की पहली पारी में शतक लगाने से पहले सीरीज के पहले मैच में भी शतक लगाया था. उस मैच में टीम इंडिया को जीत मिली थी जबकि बॉक्सिंग डे टेस्ट में भी वह जीत की दहलीज पर खड़ी है. राहुल द्रविड़ भी टीम इंडिया के 2003-04 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर एडीलेड में शतक लगा चुके हैं. द्रविड़ ने इस टेस्ट मैच की पहली पारी में 233 रन बनाने के बाद दूसरी पारी में भी 72 रनों की नाबाद पारी खेली थी. खास बात यह है कि इस मैच में भी भारत को जीत मिली थी. जीत में तेज गेंदबाज बजीत आगरकर की भी अहम भूमिका थी दूसरी पारी में छह विकेट लेकर ऑस्ट्रेलियाई टीम को 196 रनों पर समेट दिया था.