कोलकाता: विश्व क्रिकेट में दीवार नाम से मशहूर हुए भारत के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा है कि अगर प्रशंसक चाहते हैं तो दिन-रात टेस्ट मैच अच्छा विचार है. यहां के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में भारत और बांग्लादेश की टीमें अपना पहला दिन-रात टेस्ट मैच खेल रही हैं. मैच के पहले दिन शुक्रवार को स्टेडियम में तकरीबन 60,000 दर्शक मौजूद रहे.

द्रविड़ ने कहा, “यहां आकर मैं काफी खुश हूं इसने मेरी कुछ पुरानी यादें ताजा कर दी हैं. जब आपके सामने 45-50,000 दर्शक होते हैं तो आपको शानदार लगता है. यह शानदार माहौल है और इस तरह की भीड़ देखना अच्छा लगता है. आप इससे ज्यादा और क्या मांग सकते हो? मुझे उम्मीद है कि हम ऐसा लगातार करते रहें.” द्रविड़ को लगता है कि लाल गेंद से खेले जाने वाले दिन के टेस्ट मैच में सुबह का सत्र बल्लेबाजों के लिए काफी मुश्किल होता है वैसा ही गुलाबी गेंद से शाम का सत्र हो सकता है.

PinkBallTest, INDvBAN: इशांत के 5 विकेट हॉल के बाद कोहली-पुजारा ने दिलाई टीम इंडिया को बढ़त

पूर्व कप्तान ने कहा, “हमने देखा कि बांग्लादेशी बल्लेबाज पहले दो घंटे संघर्ष करते हुए दिखाई दिए. टीम 106 रनों पर ही आउट हो गई. इससे पहले आपके पास सुबह के सत्र नई गेंद का प्रभाव होता था जबकि अब आपके पास शाम के सत्र में है.”

द्रविड़ से जब पूछा गया कि अगर उनके समय में दिन-रात टेस्ट मैच खेला जाता तो वह क्या करते तो द्रविड़ ने कहा, “मैं यह खेलना पसंद करता. मैं हमेशा 40-50,000 लोगों के सामने खेलना चाहता हूं. जब हम 2001 में ईडन में खेल रहे थे तब 100,000 के आस-पास लोग थे, इससे हमें मजा आया था.”

कोहली ने हासिल की ‘विराट’ उपलब्धि, ऐसा करने वाले पहले भारतीय कप्तान बने