शेल्‍डन कॉट्रेल के ओवर में पांच छक्‍के मारकर राजस्‍थान रॉयल्‍स के लिए हारी हुई बाजी को जीत में तबदील करने वाले हरियाणा के राहुल तेवतियां ने अपनी परफार्मेंस का राज बताया. ऑलराउंडर राहुल तेवतिया ने कहा कि घरेलू क्रिकेट में तीन स्पिनरों के साथ खेलने के अनुभव से उनमें इस तरह के प्रदर्शन  हासिल करने में मदद की.Also Read - PAK vs WI: संकट में पाकिस्तान-वेस्टइंडीज टी20 सीरीज, Sheldon Cottrell समेत दो अन्य खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव

तेवतियां ने कहा,‘‘ मैं हरियाणा के लिये खेलता हूं और 2013-14 में रणजी क्रिकेट में डेब्‍यू किया था. मैने लाहली में काफी मैच खेले जो मध्यम तेज गेंदबाजों की मददगार पिच है. हमारी टीम में तीन भारतीय अंतरराष्ट्रीय स्पिनरों की मौजूदगी का मुझे काफी फायदा मिला.’’ Also Read - IPL 2021, KKR vs RR: कोलकाता ने राजस्‍थान को 86 रन से रौंदा, प्‍लेऑफ में लगभग पक्‍की की जगह !

युजवेंद्र चहल भारत के प्रमुख स्पिनर हैं जबकि अमित मिश्रा और जयंत यादव भी भारत के लिये खेल चुके हैं . Also Read - IPL 2021, RR vs CSK: Ruturaj Gaikwad का शतक बेकार, राजस्थान ने दर्ज की जीत

तेवतिया ने अपनी पारी के बारे में कहा ,‘‘ जब मैं शॉटस नहीं लगा पा रहा था तो दबाव में था लेकिन संजू सैमसन ने मुझे कहा कि एक बड़े स्ट्रोक की जरूरत है और मैं उसी का इंतजार कर रहा था.’’

23 गेंद में 17 रन बनाने के बाद उन्होंने आखिर में 31 गेंद में 53 रन जोड़े. यह पूछने पर कि कप्तान स्टीव स्मिथ और कोच एंड्रयू मैकडोनल्ड ने मैच के बाद क्या कहा तो उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने मुझसे कहा कि इस मुकाम पर वापसी के लिये मानसिक दृढता की जरूरत होती है. उन्हें मेरी क्षमता पर हमेशा विश्वास था.’’

तेवतिया ने कहा कि इस चमत्कारिक जीत ने ड्रेसिंग रूम का माहौल बदल दिया.