नई दिल्ली. वो कहते हैं ना कि घर का भेदी ही लंका ढाता है. सही कहते हैं. पुणे में राजस्थान का जो हश्र हुआ उसमें धोनी के सुपरकिंग्स के ज्यादा उसके अपने विभीषण यानी शेन वॉटसन का हाथ रहा. इस सच्चाई को मैच के बाद वॉटसन ने भी स्वीकारा और राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भी. पुणे की पिच पर राजस्थान के खिलाफ शतकीय पारी जमाने के बाद वॉटसन ने कहा कि, ” इसमें कोई शक नहीं कि राजस्थान के खिलाफ खेलने के लिए वो जरुरत से ज्यादा मोटिवेट थे.” वहीं वॉटसन की पारी पर राजस्थान के कप्तान का कहना था, ” उन्होंने पहली गेंद से ही अपने इरादे जता दिए थे. नतीजा ये रहा कि वो एक अविश्वसनीय पारी खेलने में सफल रहे.” बता दें कि पुणे में खेले मुकाबले में शेन वॉटसन के शानदार शतक के दम पर चेन्नई सुपरकिंग्स राजस्थान के खिलाफ 64 रन की जीत की स्क्रिप्ट लिखने में कामयाब रहा.Also Read - 4 महीने के ब्रेक के बाद IPL- भारत के घरेलू खिलाड़ियों के लिए चुनौती होगी मैच फिटनेस: Chris Morris

Also Read - IPL 2021, PBKS vs RR: कब और कहां देखें पंजाब किंग्स vs राजस्थान रॉयल्स मैच की लाइव स्ट्रीमिंग

वॉटसन बने ‘विभीषण’ Also Read - IPL 2021: जानिए Rajasthan Royals का कब, किससे, कहां होगा मुकाबला- क्या है पूरी टीम?

अब जरा ये समझिए कि वॉटसन ने राजस्थान के लिए विभीषण की भूमिका कैसे निभाई. दरअसल, IPL में राजस्थान रॉयल्स वॉटसन की पहली फ्रेंचाईजी थी. IPL के अपने 3 शतकों में से 2 शतक उन्होंने इसी फ्रेंचाईजी के लिए खेलते हुए बनाए हैं. लेकिन IPL-11 में वॉटसन चेन्नई की टीम का हिस्सा हैं और जब धोनी की कमान वाली इस टीम का राजस्थान से मुकाबला हुआ तो उनका 5 साल पुराना घाव भी ताजा हो गया. दरअसल, 5 साल पहले साल 2013 में वॉटसन ही राजस्थान के वो सुपरहीरो थे जिन्होंने चेन्नई में शतक जड़कर धोनी की पीली पलटन को उसके मांद में हराया था. ऐसे में अब जब वॉटसन धोनी की टीम का हिस्सा थे तो उन्होंने वॉटसन का ही इस्तेमाल कर राजस्थान से उस हार का बदला ले लिया.

5 साल पुराना हिसाब बराबर

22 अप्रैल 2013 को चेन्नई के चेपॉक मैदान पर खेले मुकाबले में वॉटसन ने राजस्थान की ओर से खेलते हुए धोनी की टीम के खिलाफ 66 गेंदों पर 101 रन बनाए थे. 20 अप्रैल 2018 को वही वॉटसन ने चेन्नई के लिए राजस्थान के खिलाफ शतकीय पारी खेली और पुणे में 58 गेंदों पर 106 रन बनाए. 5 साल पहले और बाद, इन दो पारियों को खेलकर वॉटसन IPL में एक ही टीम के लिए और उसके खिलाफ शतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं.

चेन्नई-राजस्थान के मैच में खूब चलते हैं वॉटसन

वैसे भी चेन्नई और राजस्थान के मैच में वॉटसन का बल्ला खूब चला है. IPL2013 से लेकर अबतक खेले गए इन दो टीमों के मैच में वॉटसन का स्कोर कार्ड देखिए- 101, 70, 51, 73, 28, और 106. यानी कि 6 पारियों में उनके बल्ले से 2 शतक और 3 अर्धशतक निकले हैं.

गेल के बाद वॉटसन के शतक से पड़ा पाला, IPL की 'जवां' पिच पर 'बुजुर्गों' का बोलबाला

गेल के बाद वॉटसन के शतक से पड़ा पाला, IPL की 'जवां' पिच पर 'बुजुर्गों' का बोलबाला

पुणे में राजस्थान के खिलाफ 51 गेंदों पर शतक पूरा करने वाले वॉटसन 106 रन बनाकर आउट हुए. ये रन उन्होंने 58 गेंदों का सामना करते हुए 185.96 के स्ट्राइक रेट के साथ 9 चौके और 6 छक्के के दम पर बनाए. ये IPL में वॉटसन का तीसरा शतक था. इस शतक के बाद वो सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर आ गए हैं.