भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) क्रिकेट के मैदान पर कई सफलताएं अर्जित कर रहे हैं लेकिन डीआरएस के उपयोग में वो पूरी तरह से विफल हो रहे हैं। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन शनिवार को उनकी ये समस्या सामने आई। Also Read - On This Day: सचिन ने सबसे पहले बनाए थे 10 हजार वनडे रन, ये शर्मनाक रिकॉर्ड भी है जुड़ा

कोहली लगातार नौवीं बार डीआरएस का सही इस्तेमाल करने में विफल रहे हैं। कोहली को दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज एनरिक नोर्टजे ने 12 के निजी स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया था, लेकिन कोहली ने इस पर रिव्यू लिया, जो उनके खिलाफ चला गया। Also Read - मौजूदा खिलाड़ियों में रोहित शर्मा के पास सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटिंग दिमाग : वसीम जाफर

भारत ने दिन के पहले सेशन में अपने तीन विकेट महज 39 रनों पर ही खो दिए थे। इसके बाद रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे ने टीम को संभाल लिया। खराब रोशनी के कारण दिन का खेल जल्दी खत्म कर दिया गया था। स्टंप्स की घोषणा तक रोहित शर्मा 117 और रहाणे 83 रन बनाकर खेल रहे थे। Also Read - कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे डॉक्टरों के समर्थन में डेविड वार्नर ने मुंडवाया सिर; स्मिथ-कोहली को किया नॉमिनेट

विक्रम राठौड़ बोले-शाहबाज नदीम को घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छे प्रदर्शन का मिला इनाम

रोहित ने इसी के साथ इस सीरीज में अपना तीसरा और कुल छठा शतक पूरा किया। दोनों बल्लेबाजों की टीम के बल्लेबाज कोच विक्रम राठौर ने तारीफ की है।

राठौर ने कहा कि पहले सेशन में जब कगिसो रबाडा गेंद को मूव करा रहे थे तब रोहित ने हिम्मत दिखा कर पहला सेशन निकाला। उन्होंने कहा, “जैसा की मैंने कहा, वो अच्छी जगह गेंदबाजी कर रहे थे और विकेट से भी मदद मिल रही थी। इसलिए एक बल्लेबाज के तौर पर, आपको इस तरह के समय में विकेट पर टिके रहना होता है जो रोहित ने काफी अच्छे से किया।”

भारतीय टेस्ट टीम के नए सलामी बल्लेबाज रोहित के बारे में कोच राठौर ने कहा, “वो तीनों फॉर्मेट खेलने के लिए बेहतरीन खिलाड़ी हैं। उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतारना सही फैसला है। उन्होंने जितने रन किए हैं उन्होंने कुछ समय के लिए सलामी बल्लेबाजी के विवाद को थाम दिया है।”

महिला क्रिकेटर अमांडा वेलिंग्टन को मैदान पर उनके ब्वायफ्रेंड ने किया प्रपोज

उन्होंने कहा, “उनके जैसा कोई खिलाड़ी अगर शीर्ष क्रम में आकर बल्लेबाजी करता है तो, इससे टीम के लिए सब कुछ बदल जाता है, तब भी जब आप दौरे पर हों। वो बेहद अनुभवी खिलाड़ी हैं। मुझे नहीं लगता कि उनकी तकनीक से छेड़छाड़ करने की जरूरत है। उन्हें बस मानसिक तौर पर कुछ बदलाव करने हैं।”

रहाणे की पारी को लेकर राठौर ने कहा कि, “रहाणे ने आज गजब की प्रतिस्पर्धा दिखाई। वो जब भी इस प्रतिस्पर्धा से बल्लेबाजी करते हैं तब बेहद शानदार खेलते हैं।”