भारतीय टेस्ट टीम के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे और युवा ओपनर पृथ्वी शॉ रणजी ट्रॉफी 2019-20 ग्रुप बी मैच में कर्नाटक के खिलाफ पहली पारी में सस्ते में पवेलियन लौट गए.

साल 2020 का पहला शतक ऑस्ट्रेलिया के नाम, वॉर्नर-स्मिथ नहीं बल्कि इस बल्लेबाज ने मारी बाजी

कर्नाटक ने अपने गेंदबाजों की शानदार गेंदबाजी के दम पर रिकॉर्ड 41 बार की चैंपियन मुंबई को पहली पारी में 194 रन पर ढेर कर दिया. मुंबई की ओर से कप्तान सूर्यकुमार यादव ने 94 गेंदों पर 10 चौकों और 2 छक्कों की मदद से सर्वाधिक 77 रन बनाए.

सूर्यकुमार एक छोर पर डटे रहे जबकि दूसरे छोर से विकेट गिरने का सिलसिला जारी रहा. पहले दिन का खेल खत्म होने पर कर्नाटक ने 3 विकेट पर 79 रन बना लिए. हालांकि कर्नाटक की टीम अब भी मुंबई की पहली पारी के कुल रन संख्या से 115 रन पीछे है जबकि उसके 7 विकेट शेष हैं.

ओपनर आर समर्थ 40 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं जबकि कप्तान करुण नायर खाता खोले बगैर नाबाद लौटे. देवदत्त पडिक्कल 32 रन बनाकर आउट हुए.

इससे पहले कर्नाटक ने टॉस जीतकर मुंबई को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया. मुंबई की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ओपनर आदित्य तारे खाता खोले बगैर पवेलियन लौट गए.

बुलंदी पर विराट कोहली के सितारे, नए साल में ध्वस्त करेंगे तेंदुलकर, पोंटिंग और ब्रैडमैन के 5 अजेय रिकॉर्ड!

इसके बाद अजिंक्य रहाणे क्रीज पर उतरे. लेकिन वह भी कुछ खास कमाल नहीं कर सके और 7 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. सिद्धेश लाड के रूप में मुंबई ने अपना तीसरा विकेट गंवाया जो चार रन बनाकर मोर की गेंद पर आउट हुए.

पृथ्वी शॉ ने 57 गेंदों पर 29 रन बनाए. उन्होंने 6 चौके लगाए. कर्नाटक की ओर से वासुकी ने सबसे अधिक 3 जबकि रोनित मोर ने 2 विकेट चटकाए. रहाणे को मोर ने जबकि शॉ को अभिमन्यु मिथुन ने पवेलियन की राह दिखाई. तेज गेंदबाज अभिमन्यु ने 2 विकेट चटकाए.

गौरतलब है कि रेलवे के खिलाफ भी रहाणे और पृथ्वी का बल्ला शांत रहा था। रेलवे ने मुंबई को 10 विकेट से रौंदा था.