दाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज इशान पोरेल के पांच विकेट की बदौलत बंगाल ने रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल में स्टार खिलाड़ियों से सुसज्जित  कर्नाटक की टीम को पहली पारी में 122 रन पर समेटकर दूसरे दिन स्टंप तक अपनी दूसरी पारी में 4 विकेट पर 72 रन बना लिए.अनुष्तुप मजूमदार के नाबाद 149 रन की मदद से बंगाल ने पहली पारी में 312 रन बनाये जबकि एक समय टीम 67 रन पर छह विकेट गंवाकर जूझ रही थी. Also Read - इरफान पठान की मदद से आईपीएल तक पहुंचा जम्मू-कश्मीर का क्रिकेटर टूर्नामेंट स्थगित होने से नाखुश

विराट कोहली को किस तरह कीवी गेंदबाजों ने गलती करने पर किया मजबूर, बोल्ट ने किया खुलासा Also Read - #SundaySocialMediaCheck: केएल राहुल ने बदला हेयरस्टाइल; रोहित ने उड़ाया प्रज्ञान ओझा का मजाक

इसके बाद 21 साल के पोरेल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 39 रन देकर पांच विकेट हासिल किये जिससे बंगाल के गेंदबाजी आक्रमण ने मजबूत बल्लेबाजी क्रम वाली कर्नाटक टीम को 36.2 ओवर में महज 122 रन पर समेट दिया. यह कर्नाटक का इस सत्र का सबसे न्यूनतम स्कोर भी है. Also Read - कोच रवि शास्त्री ने भी माना इस खिलाड़ी के नहीं खेलने से हुआ टीम इंडिया को नुकसान

हाल में टी20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला में न्यूजीलैंड के 5-0 के सफाये में ‘मैन आफ द सीरीज’ रहे भारतीय सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने 67 गेंद का सामना करते हुए दो चौकों की मदद से 26 रन बनाये.

कर्नाटक के लिए के गौतम ने सर्वाधिक 31 रन बनाए 

कर्नाटक के लिए स्पिनर कृष्णप्पा गौतम (31) शीर्ष स्कोरर रहे जिन्होंने अभिमन्यु मिथुन (24) के साथ आठवें विकेट के लिये 46 गेंद में 56 रन की साझेदारी निभायी. इससे कर्नाटक की टीम फॉलोऑन से बच गई लेकिन पहली पारी के हिसाब से 190 रन की बढ़त गंवा बैठी.

दूसरे दिन कुल 15 विकेट गिरे क्योंकि स्टंप तक बंगाल ने दूसरी पारी में 72 रन तक चार विकेट गंवा दिये थे. सुदीप चटर्जी 40 रन बनाकर डटे थे जबकि दूसरे छोर पर मजूमदार ने अभी एक ही रन बनाया था. बंगाल की कुल बढ़त 262 रन की हो गयी है.

‘जब तक मैं अच्छी गेंदबाजी रहा हूं तब तक मुझे आलोचनाओं से कोई फर्क नहीं पड़ता’

सुबह बंगाल ने नौ विकेट पर 245 रन पर खेलना शुरू किया. मजूमदार 120 रन पर खेल रहे थे. उन्होंने और पोरेल ने अंतिम विकेट के लिये 45 मिनट तक बल्लेबाजी करते हुए 79 गेंद में 54 रन जोड़े.