Ranji Trophy 2019/20: भारतीय क्रिकेट की सबसे बड़ी व सबसे पुरानी राष्ट्रीय क्रिकेट प्रतियोगिता रणजी ट्रॉफी 2019-20 का 86वां एडिशन सोमवार (9 दिसंबर) से शुरू हो रहा है. पहले दिन कुल 18 मुकाबले खेले जाएंगे.

शिवम दुबे की पारी पर सिमंस का अर्धशतक भारी, विंडीज ने भारत को 8 विकेट से हराया

पिछले सीजन 2018-19 में कई नए रिकॉर्ड कायम हुए तो कई टूटने से बचे. पिछले 68 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब रिकॉर्ड 41 बार की चैंपियन मुंबई, दिल्ली, तमिलनाडु और बंगाल की टीमें नॉकआउट में पहुंचने में असफल रहीं.

बिहार के ऑफ स्पिनर आशुतोष अमन ने पिछले सीजन 8 मैचों में सर्वाधिक 68 विकेट अपने नाम किए थे. उन्होंने इस दौरान दिग्गज बिशन सिंह बेदी के 44 साल पुराना रिकॉर्ड ध्वस्त किया था. बेदी के नाम एक रणजी सीजन में सर्वाधिक 64 विकेट झटकने का रिकॉर्ड था.

‘किंग’ कोहली ने रोहित शर्मा को पछाड़ बनाया T20 का वर्ल्ड रिकॉर्ड

सिक्किम की ओर से खेलने वाले मिलिंद कुमार ने 1,131 रन बनाए. मिलिंद महज 84 रन से दिग्गज वीवीएस लक्ष्मण का रिकॉर्ड तोड़ने से दूर रह गए थे. लक्ष्मण ने 1999/00 में 1,415 रन बनाए. फाइनल में विदर्भ ने सौराष्ट्र को हराकर खिताब बचाया था. विदर्भ रणजी ट्रॉफी का बचाव करने वाली छठी टीम बनी थी.

38 टीमें लेंगी हिस्सा

चंडीगढ़ के आने से इस बार टूर्नामेंट में रिकॉर्ड 38 टीमें शिरकत करेंगी जो नॉकआउट चरण से पहले ग्रुप मुकाबलों में एक-दूसरे से भिड़कर खिताब के लिए दावेदारी पेश करेंगी.

फॉर्मेट

पिछले सीजन 2019-20 की तरह इस बार भी टॉप की 18 टीमों को ग्रुप ए और बी में बांटा गया है जबकि अन्य टीमों को ग्रुप सी में रखा गया है. नई टीमों (जैसे पहली बार शामिल की गई चंडीगढ़) को प्लेटग्रुप में जगह दी गई है. आठ टीमें क्वार्टर फाइनल्स के लिए क्वालीफाई करेंगी.

41 साल के वसीम जाफर पर रहेगी नजर

घरेलू क्रिकेट के ‘बादशाह’ 41 वर्षीय वसीम जाफर के प्रदर्शन पर सबकी निगाहें होंगी जिन्होंने पिछले सीजन 2019-20 विदर्भ के लिए  खेलते हुए 1,037 रन बनाए थे. मौजूदा सीजन में पहला मैच जाफर के करियर का 150वां रणजी मैच होगा. वह इसके साथ इस टूर्नामेंट में सबसे अधिक मैच खेलने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे. जाफर फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 20,000 रन से महज 853 रन दूर हैं.

रहाणे, पुजारा, मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ भी दिखाएंगे जलवा

टेस्ट टीम के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा और मयंक अग्रवाल के लिए आगामी न्यूजीलैंड दौरे से पहले इस ट्रॉफी में अभ्यास का अच्छा मौका मिलेगा जबकि युवा पृथ्वी शॉ निलंबन के बाद बेहतरीन प्रदर्शन कर फिर से टीम इंडिया का दरवाजा खटखटाने की कोशिश करेंगे.