बंगाल और सौराष्ट्र के बीच रणजी ट्रॉफी फाइनल के 5वें और अंतिम दिन का खेल कोरोना वायरस  संक्रमण के कारण खाली स्टेडियम में खेला जाएगा. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने गुरुवार को यह जानकारी दी. बीसीसीआई महाप्रबंधक सबा करीम ने पीटीआई से कहा, ‘अंतिम दिन दर्शकों को स्टेडियम में आने की अनुमति नहीं होगी. केवल खिलाड़ियों, मैच अधिकारियों और मीडिया को ही अनुमति दी जाएगी.’ Also Read - इस्‍कॉन मंदिर के साथ मिलकर सौरव गांगुली ने किया 10 हजार अतिरिक्‍त लोगों के खाने का इंतजाम

Coronavirus Effect: साउथ अफ्रीका के खिलाफ अंतिम 2 वनडे खाली स्टेडियम में कराए जा सकते हैं Also Read - कोविड-19 महामारी के चलते कट सकती है भारतीय क्रिकेटरों की सैलरी

यह फैसला खेल मंत्रालय के परामर्श के बाद किया गया है. खेल मंत्रालय ने सभी खेल महासंघों को खेल प्रतियोगिताओं में भीड़ जुटाने से बचने के स्वास्थ्य मंत्रालय के परामर्श का पालन करने के लिये कहा था. Also Read - लॉकडाउन के बीच रवींद्र जडेजा ने की घुड़सवारी, BCCI की तरफ से भी आई प्रतिक्रिया

अनुष्तुप मजूमदार के नाबाद 58 रन की मदद से बंगाल रणजी ट्राफी फाइनल के चौथे दिन सौराष्ट्र के खिलाफ पहली पारी में बढ़त हासिल करके खिताब हासिल करने की दौड़ में बना हुआ है.

बंगाल को बढ़त के लिए 72 रन की दरकार

बंगाल को पहली पारी की बढ़त हासिल करने के लिए 72 रन की दरकार है और उसके 4 विकेट बाकी हैं. बंगाल ने चौथे दिन स्टंप तक पहली पारी में 6 विकेट पर 354 रन बना लिए थे जिसमें अनुष्तुप मजूमदार ने अर्णब नंदी (82 गेंद में 28 रन बनाकर खेल रहे हैं) के साथ 7वें विकेट के लिए नाबाद 91 रन की साझेदारी निभा ली थी. जयदेव उनादकट की गेंद उंगली में लगने के बावजूद नंदी क्रीज पर डटे रहे.

INDvSA 1st ODI: बारिश की भेंट चढ़ा भारत-साउथ अफ्रीका पहला वनडे

बंगाल ने तीन विकेट पर 134 रन से खेलना शुरू किया. सुदीप चटर्जी (241 गेंद में 81 रन) और रिद्धिमान साहा (184 गेंद में 64 रन) ने 101 रन की भागीदारी निभायी जिसके लिए दोनों ने 49 ओवर बल्लेबाजी की. उन्होंने सुबह के सत्र में सौराष्ट्र के गेंदबाजों को काफी हताश किया और 29 ओवरों में 89 रन जोड़े.