हैदराबाद के गेंदबाजों ने ऐतिहासिक गेंदबाजी करते हुए रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-सी मुकाबले में हिमाचल प्रदेश की पहली पारी मात्र 36 रनों पर ढेर कर दी। हालांकि हैदराबाद भी मैच के दूसरे दिन शुक्रवार को खेल बंद होने तक 99 रनों पर अपने सात विकेट गंवा चुका है। मैच के दूसरे दिन कुल 15 विकेट गिरे। पहले दिन खराब मौसम के कारण सिर्फ 4.1 ओवरों का खेल हो सका था। लेकिन मात्र आठ रन पर दो विकेट गंवा चुकी हिमाचल प्रदेश की टीम दूसरे दिन जैसे रेत का ढेर साबित हुई। यह भी पढ़े: भारत-न्यूजीलैंड सीरीज के बाद इन खिलाड़ियों पर गिर सकती है गाजAlso Read - बर्फ से लकदक हिमाचल के ये पहाड़ आपको बुलाते हैं, सुनो आवाज लगाते हैं, कब आओगे...

Also Read - बोर्ड संशोधित योजना बनाएगा, टूर्नामेंट स्थगित होने के बाद Sourav Ganguly ने तोड़ी चुप्पी

हिमाचल प्रदेश की ओर से एक भी बल्लेबाज दहाई तक नहीं पहुंच सका और पांच बल्लेबाज तो खाता तक नहीं खोल सके। आखिरी के बल्लेबाजों को एक-एक कर ढहाने वाले आकाश भंडारी ने मात्र तीन ओवरों में बिना एक भी रन दिए चार विकेट अपने नाम किए। रवि किरन ने तीन, चामा मिलिंद ने दो और मोहम्मद सिराज ने एक विकेट हासिल किया। Also Read - बढ़ते कोविड मामलों के बावजूद तय शेड्यूल के हिसाब से आयोजित होगा रणजी ट्रॉफी कार्यक्रम; सौरव गांगुली ने की पुष्टि

हैदराबाद की टीम हालांकि अपने गेंदबाजों की मेहनत का फायदा नहीं उठा सकी। हिमाचल प्रदेश के कप्तान ऋषि धवन ने शानदार गेंदबाजी करते हुए लगातार विकेट चटकाए। ऋषि ने अकेले 89 के स्कोर तक हैदराबाद के छह बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखा दी थी।

दिन का आखिरी और हैदराबाद का सातवां विकेट गुरविंदर सिंह ने लिया।

हैदराबाद की ओर से तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी करने उतरे बालचंदर अनिरुद्ध संघर्ष करने वाले एकमात्र बल्लेबाज रहे। वह 44 रन बनाकर नाबाद हैं।