बेंगलुरू: राजस्थान ने रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में दूसरी पारी में 222 रन बनाकर कर्नाटक को जीत के लिये 184 रन का आसान लक्ष्य दिया. हालांकि, दूसरी पारी में कर्नाटक की शुरुआत अच्‍छी नहीं हुई और तीसरे दिन स्टंप तक उसने तीन विकेट सस्ते में गंवा दिए.

कर्नाटक ने इस लक्ष्य के जवाब में दिन का खेल समाप्त होने तक 18 ओवर में तीन विकेट पर 45 रन बनाए थे. उसे जीत के लिए अभी 139 रनों की और जरूरत है, जबकि उसके सात विकेट बाकी हैं. सलामी बल्लेबाज रविकुमार समर्थ 16 रन बनाकर आउट हुए जबकि डी निश्चत एक और पहली पारी में अर्धशतक जड़ने वाले कृष्णमूर्ति सिद्धार्थ पांच रन बनाकर पवेलियन लौट गए.

अब टीम करुण नायर से अच्छी पारी की उम्मीद करेगी जो 18 रन बनाकर क्रीज पर डटे हैं. दूसरे छोर पर रोनित मोरे पांच रन बनाकर खेल रहे हैं. राजस्थान के गेंदबाज अनिकेत चौधरी ने नौ रन देकर दो विकेट चटकाए जबकि महिपाल लोमरोर को दिन के एकमात्र ओवर में दो रन देकर एक विकेट मिल गया.

रणजी ट्रॉफी क्‍वार्टर फाइनल: थम्‍पी की गेंदबाजी ने केरल को पहली बार दिलाई अंतिम 4 में जगह, गुजरात का सपना टूटा

इससे पहले राजस्थान ने बिना विकेट गंवाए 11 रन से आगे खेलना शुरू किया. सलामी बल्लेबाज अमित कुमार गौतम (24) पवेलियन लौटने वाले पहले खिलाड़ी रहे. उनके बाद चेतन बिष्ट (33) भी चलते बने जिन्होंने कप्तान लोमरोर (42) के साथ दूसरे विकेट के लिये 72 रन की भागीदारी निभाई.

रणजी ट्रॉफी क्‍वार्टर फाइनल: उत्‍तराखंड के खिलाफ वसीम जाफर का दोहरा शतक, विदर्भ मजबूत स्थिति में

कर्नाटक के गेंदबाज कृष्णप्पा गौतम (54 रन देकर चार विकेट) ने चेतन बिष्ट के बाद लोमरोर का भी विकेट हासिल किया. इन तीनों बल्लेबाजों के अलावा रोबिन बिष्ट (44 रन) ने टीम के स्कोर में उपयोगी योगदान दिया, लेकिन बाकी बल्‍लेबाज कुछ खास नहीं कर पाए. गौतम के अलावा श्रेयस गोपाल ने 52 रन देकर तीन जबकि अभिमन्यु मिथुन ने दो विकेट अपने नाम किए.