लखनऊ: हार्विक देसाई के करियर के पहले शतक तथा चेतेश्वर पुजारा सहित तीन बल्लेबाजों की अर्धशतकीय पारियों की बदौलत सौराष्ट्र ने शनिवार को उत्तर प्रदेश को छह विकेट से हराकर रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में जगह बनाई. सौराष्‍ट्र ने 372 रनों का लक्ष्‍य हासिल किया जो इस टूर्नामेंट में रिकॉर्ड है.

सौराष्ट्र ने पहली पारी में 177 रन से पिछड़ने के बाद शानदार वापसी की. उत्तर प्रदेश की टीम दूसरी पारी में 194 रन पर सिमट गई जिससे सौराष्ट्र को 372 रन का लक्ष्य मिला. सौराष्‍ट्र के बल्‍लेबाजों ने मैच के पांचवें और अंतिम दिन दूसरे सत्र में यह लक्ष्‍य हासिल कर लिया.

हार्विक देसाई (116) और स्नेल पटेल (72) ने पहले विकेट के लिए 132 रन जोड़कर सौराष्ट्र को अच्छी शुरुआत दिलाई. टीम ने शनिवार सुबह दो विकेट पर 195 रन से आगे खेलना शुरू किया. ऑस्ट्रेलिया में भारत की जीत के नायक पुजारा ने नाबाद 67 रन बनाए और शेल्डन जैकसन (नाबाद 73) के साथ 136 रन की अटूट साझेदारी की जिससे सौराष्ट्र रणजी ट्रॉफी में रिकॉर्ड लक्ष्य हासिल करने में सफल रहा.

रणजी ट्रॉफी में इससे पहले सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकॉर्ड असम के नाम पर था जिसने दिसंबर 2008 में सेना के खिलाफ दिल्ली में चार विकेट पर 371 रन बनाए थे. सौराष्ट्र अब सेमीफाइनल में कर्नाटक से भिड़ेगा जबकि दूसरा सेमीफाइनल विदर्भ और केरल के बीच खेला जाएगा. क्‍वार्टर फाइनल मुकाबलों में केरल ने गुजरात और कर्नाटक ने राजस्‍थान को हराया. इसके अलावा मौजूदा चैंपियन विदर्भ भी उत्‍तराखंड को हराकर सेमीफाइनल में जगह बना चुका है.

रणजी ट्रॉफी क्‍वार्टर फाइनल: यूपी को अब तक 349 रनों की बढ़त, सौराष्‍ट्र की मुश्किलें बढ़ीं

सौराष्ट्र के लिये सुबह देसाई ने अच्छी शुरुआत की लेकिन यश दयाल ने कमलेश मकवाना (सात) को जल्द ही पवेलियन भेज दिया. इसके बाद पुजारा ने क्रीज पर कदम रखा. देसाई शतक पूरा करने के बाद सौरभ कुमार की गेंद पर विकेट के पीछे कैच दे बैठे. उन्‍होंने 259 गेंदें खेली तथा 16 चौके लगाए.

रणजी ट्रॉफी क्‍वार्टर फाइनल: थम्‍पी की गेंदबाजी ने केरल को पहली बार दिलाई अंतिम 4 में जगह, गुजरात का सपना टूटा

उत्तर प्रदेश ने इसके बाद 85वें ओवर में नई गेंद ली लेकिन पुजारा और जैकसन ने उसे कोई मौका नहीं दिया. पुजारा पहली पारी में केवल 11 रन बना पाए थे लेकिन दूसरी पारी में उन्होंने अपनी ख्याति के अनुरूप बल्लेबाजी की. दूसरी तरफ जैकसन ने उनका अच्छा साथ दिया. पुजारा ने 110 गेंदें खेली तथा नौ चौके लगाए जबकि जैकसन की 109 गेंद की पारी में 11 चौके और एक छक्का शामिल रहा.