बेंगलुरू: तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट और ऑफ स्पिनर कमलेश मकवाना की शानदार गेंदबाजी से सौराष्ट्र ने गुरुवार को यहां रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल के पहले दिन कर्नाटक को बैकफुट पर धकेल दिया. कर्नाटक ने पहले दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी पहली पारी में नौ विकेट पर 264 रन बनाए हैं. Also Read - CSK vs RR: राजस्‍थान की जीत में इन पांच खिलाड़ियों ने निभाई अहम भूमिका

Also Read - भारत के लिए खेलने का सपना देख रहे हैं श्रेयस गोपाल

कर्नाटक अगर इस स्कोर तक पहुंचा तो उसका श्रेय मध्यक्रम के बल्लेबाजों कप्तान मनीष पांडे (62), श्रेयस गोपाल (87) और एस शरत (नाबाद 74) की अर्धशतकीय पारियों को जाता है जिन्होंने टीम को शुरुआती झटकों से उबारा. उनादकट (50 रन देकर चार विकेट) ने कर्नाटक के टॉप ऑर्डर को झकझोर कर उसके पहले बल्लेबाजी के फैसले को गलत साबित कर दिया. मयंक अग्रवाल केवल दो रन बना पाए. कर्नाटक का स्कोर एक समय चार विकेट पर 30 रन था जिसके बाद पांडे और गोपाल ने पांचवें विकेट के लिए 106 रन जोड़कर स्थिति संभाली. उनादकट ने पांडे को बोल्ड करके यह साझेदारी तोड़ी. Also Read - वनडे में हार के बाद पूर्व दिग्गज वीवीएस लक्ष्मण ने की टीम इंडिया की फील्डिंग की आलोचना

रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल: उमेश यादव के तूफान में ढह गई केरल की बल्‍लेबाजी, विदर्भ ने बनाई बढ़त

इसके बाद गोपाल को शरत के रूप में अच्छा जोड़ीदार मिला. इन दोनों ने छठे विकेट के लिए 96 रन की साझेदारी की. मकवाना (73 रन देकर तीन) ने गोपाल की गिल्लियां बिखेरीं और फिर वह निचले क्रम के बल्लेबाजों पर हावी हो गए. कर्नाटक ने दिन के आखिरी सत्र में 26 रन के अंदर चार विकेट गंवा दिए.