वायनाड: केरल को सेमीफाइनल मैच में पारी एवं 11 रनों से हराकर विदर्भ क्रिकेट टीम ने शुक्रवार को रणजी ट्रॉफी के फाइनल में प्रवेश कर लिया. कृष्णागिरी स्टेडियम में खेले गए मैच में मिली इस जीत से मौजूदा विजेता विदर्भ ने अपने खिताब को बचाए रखने की उम्मीद और मजबूत कर ली है.

विदर्भ की इस जीत में उमेश यादव की गेंदबाजी की भूमिका सबसे अहम रही. उन्होंने केरल की दोनों पारियों में कुल 12 विकेट हासिल किए.

टॉस जीतकर विदर्भ ने केरल को पहले बल्लेबाजी का आमंत्रण दिया था. उमेश (7/48) की शानदार गेंदबाजी के दम पर विदर्भ ने केरल की पहली पारी 106 रनों पर ही समेट दी थी. इस पारी में केरल के लिए विष्णु विनोद ने सबसे अधिक नाबाद 37 रन बनाए. इसके अलावा टीम का कोई भी बल्लेबाज खास कमाल नहीं कर सका. इस पारी में विदर्भ के लिए उमेश के अलावा, रजनीश गुरबानी ने भी अच्छी गेंदबाजी की और उन्होंने बाकी के तीन विकेट अपने नाम किए.

रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल: उमेश यादव के तूफान में ढह गई केरल की बल्‍लेबाजी, विदर्भ ने बनाई बढ़त

विदर्भ ने इसके बाद कप्तान फैज फजल (75) की अर्धशतकीय पारी से पहली पारी में 208 रनों का स्कोर खड़ा किया. इसमें वसीम जाफर ने भी 34 रनों का योगदान दिया. केरल के लिए संदीप वॉरियर ने पांच विकेट लिए, वहीं बासिल थम्पी को तीन सफलताएं मिलीं. दिनेसन निदेश ने दो विकेट हासिल किए.

रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल: सौराष्‍ट्र के खिलाफ फ्लॉप हुआ कर्नाटक का टॉप ऑर्डर, उनादकट ने झटके 4 विकेट

दूसरी पारी में केरल की बल्‍लेबाजी फिर से ढह गई. एक बार फिर इसमें उमेश (5/31) की गेंदबाजी की अहम भूमिका रही. उमेश ने 31 रन पर पांच विकेट लेकर केरल की दूसरी पारी 91 रनों पर ही समेट दी. उनके अलावा इस पारी में यश ठाकुर ने चार विकेट अपने नाम किए और विदर्भ ने पारी एवं 11 रनों से जीत हासिल कर फाइनल में प्रवेश किया. फाइनल में उसका मुकाबला कर्नाटक ओर सौराष्‍ट्र के बीच खेले जा रहे दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले के विजेता से होगा.