नई दिल्ली : अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) ने विश्व कप शुरू होने से पहले कप्तान असगर अफगान को तीनों प्रारूपों की कप्तानी से हटा दिया और उनकी जगह नए कप्तान नियुक्त किए हैं. एसीबी ने असगर के चार साल की कप्तानी को समाप्त कर गुलबदिन नैब को वनडे, राशिद खान को टी-20 और रहमत शाह को टेस्ट क्रिकेट टीम का कप्तान चुना है. लेकिन राशिद और मोहम्मद नबी ने कप्तान बदलने का विराध किया है. इन दोनों खिलाड़ियों का कहना है कि विश्व कप से ठीक पहले कप्तान बदलना ठीक नहीं है. इससे खिलाड़ियों को मनोबल पर असर पड़ेगा.

राशिद इस समय इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेल रहे हैं. उन्हें टी-20 में कप्तान बनाए जाने के अलावा वनडे टीम का उप कप्तान बनाया गया है. राशिद ने इससे पहले चार वनडे मैच में अफगानिस्तान टीम की कप्तानी की है. शफीकउल्ला शफीक को टी-20 और हशमतउल्ला शाहिदी को टेस्ट टीम का उप कप्तान नियुक्त किया गया है.

न्यूजीलैंड के खिलाड़ी ने संन्यास का बना लिया था मन, अब वर्ल्ड कप टीम में मिलेगी जगह

अहम बात यह है कि राशिद ने कप्तानी में बदलाव पर असहमति जताई. राशिद ने ट्विटर पर इलेक्शन कमेटी के लिए लिखा, सम्मान के साथ कहना चाहूंगा कि मैं इस निर्णय से असहमत हूं. यह एक गैरजिम्मेदाराना और पक्षपात से भरा निर्णय है. हमारे सामने वर्ल्ड कप है. ऐसी स्थिति में असगर अफगान को कप्तान रहना चाहिए. उन्हें कप्तानी से नहीं हटाया जाना चाहिए.

पाकिस्तान ने घोषित की वर्ल्ड कप 2019 की संभावित टीम

गौरतलब है कि एसीबी के अध्यक्ष अजीजुल्ला फाजली ने कहा कि कप्तानी में बदलाव होने से युवा कप्तानों को कप्तानी करने का मौका मिलेगा, जो देश में इस खेल के भविष्य हैं. उन्होंने कहा, “विश्व कप में हमें नौ देशों के खिलाफ खेलना है. हमने सोचा कि कप्तानी बदलने का यह अच्छा समय है.” फाजली ने कहा कि असगर सीनियर खिलाड़ी के रूप में टीम में खेलना जारी रखेंगे. वह 2015 के विश्व कप के बाद मोहम्मद नबी की जगह अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान बने थे.