नई दिल्ली. वो कहते हैं ना खूब जमेगा रंग जब मिल बैठेंगे दो यार. भारतीय क्रिकेट में रवि शास्त्री और विराट कोहली कि यारी भी कुछ ऐसी ही है. इस जोड़ी की जुगलबंदी मैदान पर देखते ही बनती है. अब जब साउथ अफ्रीका में वनडे सीरीज जीत का इतिहास रचने के बाद टीम इंडिया की चर्चा जोरों पर है तो इसमें भी जितना बड़ा हाथ कप्तान विराट कोहली का है उतना ही सहयोग कोच रवि शास्त्री का भी है. दूसरे लहजे में कहें तो ये जोड़ी एक साथ होने पर धमाल करती है और भारतीय क्रिकेट के लिए एक से बढ़कर एक जीत की इबारत लिखती है. Also Read - IPL 2020 KXIP vs RCB: इन 5 कारणों से किंग्स इलेवन पंजाब को 'किंग' कोहली के खिलाफ मिली बड़ी जीत

Also Read - डीन जोन्‍स के निधन पर क्रिकेट जगत स्‍तब्‍ध, सचिन, गावस्‍कर, विराट, वार्नर ने दी श्रद्धांजलि

टीम इंडिया के लिए शानदार है ये ‘साथ’ Also Read - पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने कहा- खास किस्म के खिलाड़ी है देवदत्त पाडिक्कल

साउथ अफ्रीकी सरजमीं पर भी फिलहाल ऐसा ही हो रहा है. लेकिन, ये कोई पहला मौका नहीं है. दरअसल, जब से शास्त्री और विराट साथ-साथ आए हैं भारतीय टीम के लिए जीत की पटकथा लिखना आसान हो गया है. हम ऐसा क्यों कह रहे हैं उसे जरा अब इन आंकड़ों से समझिए. क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट को मिलाकर भारतीय टीम शास्त्री की कोचिंग में अबतक 9 सीरीज खेल चुकी है, जिसमें 7 सीरीज उसने जीते हैं , 1 में उसे हार मिली है, जबकि 1 टी-20 सीरीज ड्रॉ रही थी.अगर मुकाबलों की बात करें तो शास्त्री की कोचिंग में विराट एंड कंपनी ने अपने 70 फीसदी से ज्यादा मुकाबले जीते हैं. अब तक खेले 33 मुकाबलों में उसने 25 जीते हैं और 7 हारे हैं. इन 33 मुकाबलों में 8 टेस्ट, 19 वनडे और 6 टी20 शामिल हैं.

कोहली के ‘रन चार्जर’ शास्त्री

बतौर कोच रवि शास्त्री की जोड़ी सिर्फ कप्तान विराट कोहली के लिए ही हिट साबित नहीं हो रही बल्कि बल्लेबाज विराट कोहली के लिए भी सुपरहिट हो रही है. शास्त्री की कोचिंग में विराट ने तीनों फॉर्मेट को मिलाकर अब तक खेले 33 मुकाबलों में 11 शतकों के साथ 2303 रन बनाए हैं .

42 साल पुराने विव रिचर्ड्स के इंटरनेशनल रिकॉर्ड को विराट कोहली से खतरा , T20 सीरीज में रच सकते हैं इतिहास

42 साल पुराने विव रिचर्ड्स के इंटरनेशनल रिकॉर्ड को विराट कोहली से खतरा , T20 सीरीज में रच सकते हैं इतिहास

एक-दूसरे का साथ, सबका विकास

शास्त्री और विराट टीम इंडिया के लिए जोड़ियों में काम करते हैं. शास्त्री जहां भारतीय टीम के खिलाड़ियों की हौसलाआफजाई कर उनका मनोबल बढ़ाते हैं तो विराट मैदान पर उनसे उनका बेस्ट निकलवाने में सक्षम हैं. यही नहीं ये दोनों एक दूसरे की भी ताकत हैं और खुद की कामयाबी पर भी एक दूसरे को शाबाशी देते रहते हैं. विराट ने जहां साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज जीत का श्रेय कोच रवि शास्त्री सहित उनके पूरे सपोर्ट स्टाफ को दिया वहीं बल्लेबाजी में विराट की लाजवाब कामयाबी पर बोलते हुए कोच शास्त्री ने कहा, ” कोहली इस वक्त दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं और उनका कोई सानी नहीं है.”

‘जोड़ी’ का अगला टारगेट

विराट कोहली और रवि शास्त्री की जोड़ी के सामने सबसे बड़ा चैलेंज साउथ अफ्रीका में सीरीज जीत का सूखा खत्म करने का था. टेस्ट सीरीज में तो ये जोड़ी ये कमाल करने से चूक गई लेकिन वनडे सीरीज में हाथ आया मौका गंवाया नहीं.

अफ्रीकी सरजमीं पर अब इस जोड़ी के सामने T20 सीरीज में जीत दर्ज करने की बड़ी चुनौती है. कोच-कप्तान की इस जोड़ी के लिए ये 10वीं सीरीज होगी. इसे जीतकर ये अपनी झोली में एक और सीरीज जीत डालना चाहेंगे साथ ही ऐसा करते हुए साउथ अफ्रीका के दौरे का शानदार अंत भी करना चाहेंगे.