वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज के दौरान एक बार फिर रिषभ पंत (Rishabh Pant) खराब प्रदर्शन की वजह से फैंस की आलोचना की शिकार बने। पंत ने तीन मैचों की सीरीज में मात्र 51 रन बनाए हैं, जिसके बाद आईसीसी टी20 विश्व कप से पहले स्क्वाड में उनकी भूमिका पर सवाल उठने लगे हैं। इस बीच टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने केएल राहुल (KL Rahul) और महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को भी विकेटकीपिंग का गंभीर विकल्प बताया है।

दरअसल राहुल आईपीएल के अलावा सीमित ओवरों के घरेलू क्रिकेट में कर्नाटक के लिए भी विकेटकीपिंग करते हैं। उनके बारे में शास्त्री ने कहा, ‘‘बेशक वो विकल्प होगा। आपको देखना होगा कि आपका मजबूत पक्ष क्या है। कल मध्यक्रम में ऐसे कुछ खिलाड़ी हो सकते हैं जो आईपीएल में अविश्वसनीय पारियां खेलें। इसके अलावा अगर आपके पास कोई ऐसा खिलाड़ी है जो कई काम कर सकता है, जिसे शीर्ष क्रम में उतारा जा सकता है क्योंकि उसके बाद उम्दा बल्लेबाज हैं जो बेहद अच्छा कर रहे हैं तो फिर क्यों नहीं।’’

वनडे में बेहतर प्रदर्शन करना हमारा मिशन लेकिन तुरंत नहीं मिलेंगे नतीजे: कीरोन पोलार्ड

धोनी अब भी टी20 विश्व कप के विकल्प हैं

इंडिया टुडे के कार्यक्रम ‘इस्पिरेशन’ के दौरान शास्त्री ने धोनी के भविष्य पर बात की और ब्रेक लेने के उनके फैसले को सही बताया। कोच ने कहा, ‘‘ये समझदारी भरा है (धोनी का ब्रेक लेना)। मुझे उस समय का इंतजार है जब वो दोबारा खेलना शुरू करेगा (आईपीएल के आसपास)। मुझे नहीं लगता कि वो वनडे क्रिकेट में खेलने को लेकर अधिक उत्सुक है। वो टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुका है, टी20 विकल्प है। ये फॉर्मेट पूरी तरह से उसके अनुकूल है। लेकिन क्या उसका शरीर कड़ी चुनौतियों का सामना करना पाएगा, इसका जवाब वही दे सकता है।’’

पंत को सीखनी होगी पागलपन की सही प्रक्रिया

शास्त्री ने जब पंत की बल्लेबाजी शैली को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘आपको फायदा उठाना होगा। आपकी बल्लेबाजी ठोस होनी चाहिए। आप ये नहीं सोच सकते कि पहली ही गेंद से वो हो जाए जो आप चाहते हैं। नहीं, ऐसा नहीं होगा। खेल आपको सिखाता है। पागलपन की भी एक प्रक्रिया है और आपको ये प्रक्रिया सीखनी होगी।’’