कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इस समय विश्व में लगभग सभी खेल प्रतियोगिताएं स्थगित कर दी गई हैं. भारत में भी बहुप्रतिक्षित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल 2020) को 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. दक्षिण अफ्रीकी टीम भारत दौरे पर तीन मैचों की वनडे सीरीज खेले बगैर स्वदेश लौट गई. भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों को 29 मार्च से आईपीएल में हिस्सा लेना था लेकिन इसके स्थगित होने से वे अब अपने घरों में कैद होने को मजबूर हैं. भारत में इस समय 21 दिन का लॉकडाउन है. Also Read - सऊदी अरब ने फिर से खोलीं 90 हजार मस्जिदें, मक्का अब भी बंद

टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री का मानना है कि कोविड-19 के कारण पूरी दुनिया मानों रूक जाने से भारतीय क्रिकेट टीम को मिला यह विश्राम ‘स्वागत योग्य’ है जिसने पिछले साल मई में विश्व कप के बाद से महज 10-11 दिन घर पर बिताए हैं. Also Read - उत्तराखंड कैबिनेट को क्‍वारंटाइन में भेजने की जरूरत नहीं: स्वास्थ्य सचिव

COVID-19: लॉकडाउन के बीच पुलिस की भूमिका में सड़कों पर उतरा T20 वर्ल्ड कप का हीरो, देखें तस्वीरें Also Read - Coronavirus Lockdown: स्कूलों को फिर से खोलने की योजना पर अभिभावकों की बढ़ी चिंता, जानें क्या है सरकार की प्लानिंग

बकौल शास्त्री, ‘यह विश्राम बुरा नहीं है क्योंकि न्यूजीलैंड दौरे के आखिर में थकान हावी होने लगी थी. शारीरिक और मानसिक थकान और चोटें.’ शास्त्री स्पोटर्स पॉडकास्टपर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल आर्थटन, नासिर हुसैन और रॉब की से बात कर रहे थे.

‘खिलाड़ी इस समय का इस्तेमाल तरोताजा होने के लिए कर सकते हैं’

शास्त्री ने कहा कि खिलाड़ी इस समय का इस्तेमाल तरोताजा होने के लिए कर सकते हैं. उन्होंने कहा ,‘पिछले दस महीने में हमने काफी क्रिकेट खेली है जिसकी थकान अब दिखने लगी थी. मैं और सहयोगी स्टाफ के कुछ सदस्य इंग्लैंड में विश्व कप के लिए 23 मई को निकले थे और अब तक 10 या 11 दिन ही घर पर रूक सके हैं. कुछ खिलाड़ी तीनों प्रारूप खेल रहे हैं तो आप समझ सकते हैं कि वे कितने थके होंगे. टेस्ट से टी20 क्रिकेट के अनुकूल खुद को ढालना और इतनी यात्रा करना आसान नहीं है.’

‘खिलाड़ियों को अनुमान हो गया था कि ऐसा कुछ होगा’

विश्व कप के बाद भारतीय टीम वेस्टइंडीज गई और लंबी घरेलू सीरीज दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी खेली. इसके बाद न्यूजीलैंड का पूरा दौरा किया. शास्त्री ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज रद्द होने के बाद उनके खिलाड़ियों को अनुमान हो गया था कि ऐसा कुछ होगा.

उन्होंने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के दौरान यात्रा में होने के कारण हमें लग गया था कि ऐसा कुछ होगा. बीमारी उसी समय फैलना शुरू हुई थी. दूसरा वनडे रद्द होने के बाद हम समझ गए कि लॉकडाउन जरूरी है. जब हम न्यूजीलैंड से लौटे तो शुक्र है कि हम सही समय पर लौट गए. उस समय वहां दो ही मामले थे लेकिन अब 300 हैं. वह हवाई अड्डे पर स्क्रीनिंग और जांच का पहला दिन था. ऐसे समय में हम सभी का फर्ज है कि लोगों को जागरूक बनाए. क्रिकेट इस समय दिमाग में होना भी नहीं चाहिए. विराट ने संदेश दिया है, दूसरे भी दे रहे हैं. उन्हें पता है कि मामला गंभीर है और अभी क्रिकेट जरूरी नहीं है.’

Self Isolation: रसाेई की कैंची से अनुष्‍का ने दिया नया हेयरकट, विराट ने दी कुछ ऐसी प्रतिकिया

विश्व में कोरोनावायरस का कहर बढ़ता जा रहा है. भारत में अब तक इससे संक्रमित मरीजों की संख्या 800 को पार कर गई है जबकी इसकी चपेट में आकर 20 लोग अपनी दम तोड़ चुके हैं. दुनिया में लगभग 20 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं वहीं 6 लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं.