इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 12वें सीजन की नीलामी से पहले टीमों को मिली ट्रेड विंडो के दौरान कई खिलाड़ियों की अदला बदली हुई। इस प्रक्रिया के दौरान जो सबसे हैरान करने वाला ट्रेड था- किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) फ्रेंचाइजी का कप्तान रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) से ट्रेड करना।

हालांकि अश्विन के पंजाब टीम से अलग होने की खबरें ट्रेड पूरी होने से पहले ही आने लगी थी लेकिन फिर टीम के सह मालिक नेस वाडिया ने उन्हें गलत बताया था। वाडिया के इस बयान के बाद ही पंजाब और दिल्ली के बीच की ट्रेड फाइनल हो गई। हालांकि अश्विन के टीम से अलग होने के कारण को लेकर पंजाब टीम के ओर से स्पष्ट बयान नहीं आया। लेकिन अब इस भारतीय स्पिनर ने खुद ही इस ट्रेड की वजह बताई है।

IND vs WI: जानें कब और कहां देखें पहला टी20I मैच

अश्विन ने मुंबई मिरर अखबार से बातचीत में कहा, “पंजाब के साथ मेरा कार्यकाल शानदार रहा था। वहां से मिले अनुभव ने मुझे हर तरीके से फायदा पहुंचाया। मुझे कप्तानी दी गई थी, और ये नई चीज थी जिसे मैंने काफी कुछ सीखा। मुझे लगा था कि अगर मैंने बहुत अच्छा नहीं तो अच्छा काम तो किया है।”

अश्विन ने आगे कहा, “अन्य चीजें भी थीं। फ्रेंचाइजियों के मालिक को लगा कि मैंने अच्छा काम नहीं किया जो सही था क्योंकि मैं दोनों सीजनों में टीम को प्लेऑफ में नहीं ले जा सका। आप बहाने बना सकते हो, लेकिन मैं ऐसा इंसान हूं जो जिम्मेदारी लेता हूं और मैंने माना कि मैं अच्छा नहीं कर सका।”