वर्ल्ड क्रिकेट में रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को स्मार्ट क्रिकेटर माना जाता है. ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्होंने स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को अपने जाल में फंसाकर यह बात साबित भी की. लेकिन स्मिथ को सस्ते में आउट करने का प्लान अश्विन का नहीं बल्कि टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का था. इसका खुलासा खुद इस सीनियर ऑफ स्पिनर अश्विन ने किया है. ऑस्ट्रेलिया को बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी (Border Gavaskar Trophy) में 2-1 से हराकर लौटे अश्विन ने अपने यू-ट्यूब चैनल पर इस प्लान के बारे बताया है. Also Read - IND vs ENG Day 1 Match Report and Highlights: पहले दिन Axar-Ashwin चमके, 205 पर इंग्लैंड ऑल आउट

अश्विन यहां भारत के फील्डिंग कोच आर. श्रीधर (R. Sridhar) से बात कर रहे हैं. इन दोनों ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल ही में संपन्न हुई सीरीज पर बात की और उस प्लान को बताया, जिसमें अश्विन ने स्टीव स्मिथ को टेस्ट सीरीज में 3 बार अपना शिकार बनाया. Also Read - ICC 'Player of the Month': भारत के रविचंद्रन अश्विन समेत जो रूट और कायल मेयर्स को मिला नॉमिनेशन

मेलबर्न टेस्ट से पहले भारतीय टीम 0-1 से पिछड़ी हुई थी और ऑस्ट्रेलिया ने यहां टॉस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला किया था. लेकिन टॉस से 5 मिनट पहले ही मुख्य कोच रवि शास्त्री को यह आभास हो गया था कि भारत यहां टॉस हारेगा और उसे पहले फील्डिंग करनी होगी. Also Read - India vs England: जो रूट चाहते हैं भारतीय स्पिनरों का बहादुरी से सामना करें इंग्लिश बल्लेबाज

अश्विन से बात करते हुए श्रीधर ने बताया, ‘टॉस से 5 मिनट पहले मैं फील्डिंग ड्रिल में बिजी था. रवि (शास्त्री) मेरे पास आए और कहा, श्री पिछली बार ऐसा कब हुआ था, जब एमसीजी पर किसी टीम ने पहले फील्डिंग की हो और मैच जीता हो? मैं हैरान था कि पता नहीं क्यों वह मुझसे स्लेबस से बाहर का सवाल पूछ रहे हैं. मैंने बस यही कहा कि मैंने पिछले 5 टेस्ट के आंकड़े पढ़े हैं और पांचों बार यहां पहले बैटिंग करने वाली टीम जीती है.’

इसके बाद अश्विन ने कहा, ‘जब हम टॉस हार गए, शास्त्री मेरे पास आए और बोले- ”एश्श्श्श”. तब मैं अपनी पेंट पहन रहा था. मैंने कहा हां रवि भाई. वह अपने ही स्टाइल में दमदार आवाज में बोले- पहले 10 ओवर में ही बॉलिंग पर आ जाना. मैं हैरान था कि मेलबर्न में ही पहले 10 ओवर में बॉलिंग? उन्होंने कहा कि मैंने जिन्क्स (अजिंक्य रहाणे) को बोल दिया है. यह नमी भरी पिच है और यहां बॉल स्पिन हो सकता है. जैसा उन्होंने कहा था, मुझे बॉल जल्दी मिल गई… और शुरुआत से ही बॉल स्पिन हो रही थी. मैं हैरान था कि यहां क्या हो रहा है.’

इसके बाद श्रीधर ने बताया कि स्मिथ को अश्विन के स्पिन जाल में फंसाने की पूरी योजना रवि शास्त्री की ही थी और जब अश्विन के हाथ में नया बॉल आया तो वह उत्साहित थे कि अब कुछ होने वाला है. श्रीधर ने कहा, ‘रवि भाई हमारे पास आए और बोले मैंने जिंक्स को कहा था अश्विन को जल्दी लाए. वह स्मिथ के खिलाफ मानसिक रूप से हावी हैं. बॉल निश्चित ही कुछ न कुछ करेगी. यह लाल बॉल है गुलाबी नहीं. वह अश्विन को बॉलिंग पर देख उत्साह से तालियां पीट रहे थे.’

इसके बाद अश्विन ने स्मिथ को दो बार सस्ते में आउट किया. और कुल तीन बार उनके विकेट अपने नाम किए. सिडनी टेस्ट में अश्विन के खिलाफ स्मिथ ने रन भी बनाए थे और उन्होंने यहा अपना शतक भी पूरा किया था. लेकिन अश्विन ने उन्हें अपने जाल में ऐसा उलझाया कि फिर भारत के खिलाफ 4 टेस्ट की इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को वह किसी भी टेस्ट में जीत नहीं दिला पाए.