Also Read - आलोचनाओं के कारण ही मैं यहां तक पहुंचा हूं, परवाह नहीं: Ajinkya Rahane

भारतीय टीम से सीनियर स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) चाहते हैं कि आगामी टी20 विश्व कप से पहले रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को सीमित ओवर फॉर्मेट टीम में मौका दिया जाय। अश्विन फिलहाल बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन जुलाई, 2017 से वो सीमित ओवर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं। Also Read - VIDEO देखें- कोच Ravi Shastri ने पिच क्यूरेटर के डॉगी को कराई फील्डिंग, जमकर खेले

Also Read - जडेजा-अश्विन एक साथ भी खेल सकते हैं, धीमी पिच के बावजूद वार्न-मुरलीधरन विकेट निकालते थे: सचिन

पीटीआई से बातचीत में हरभजन ने कहा, ‘‘मुझे ऐसा महसूस होता है, अगर आपको शुरुआत में ही स्पिनर से गेंदबाजी करानी है (टी20 में सुंदर ऐसा कर रहे हैं) तो आप विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज के साथ उतर सकते हैं जो अश्विन है। उसे मौका क्यों ना दिया जाए? हाल में लाल गेंद के क्रिकेट में भी उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अश्विन गेंद को स्पिन करा सकता है, उसके पास अधिक वैरिएशन है। सुंदर जैसे खिलाड़ी को सीखने की जरूरत है। मैं चाहता हूं कि वो अच्छा प्रदर्शन करे। मैं युवाओं को मौका देने के पक्ष में हूं लेकिन कड़ी प्रतिस्पर्धा को देखते हुए उन्हें सीखना होगा, नहीं तो उनकी जगह किसी और को मौका दिया जाएगा।’’

भारतीय तेज गेंदबाजों की शानदार फॉर्म के सामने गेंद का रंग मायने नहीं रखेगा : ऋद्धिमान साहा

वनडे-टी20 टीम में अश्विन की वापसी की पैरवी करने वाले हरभजन ने ये भी माना कि सीमित ओवर फॉर्मेट में विकेट लेने के सबसे बेहतर विकल्प रिस्ट स्पिनर्स युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) और कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) ही हैं। उन्होंने कहा, ‘‘वो विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज हैं। विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज हमेशा खेल में बने रहे हैं, फिर वो कुलदीप हो या चहल या कोई और।’’