नई दिल्ली : टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा की चोट का मामला लगातार नए मोड़ लेता जा रहा है. अब, भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एम.एस.के. प्रसाद ने कहा है कि जडेजा ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए पूरी तरह से फिट थे, तभी उन्हें टीम में चुना गया. प्रसाद का यह बयान टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री के उस बयान से अलग है जिसमें शास्त्री ने कहा था कि जडेजा ऑस्ट्रेलिया आने से पहले पूरी तरह फिट नहीं थे. उन्होंने कहा था कि जडेजा जब रणजी ट्रॉफी का मैच खेल रहे थे, तब उनके कंधे में जकड़न थी और ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के चार दिन बाद उन्हें इंजेक्शन दिए गए थे.

लेकिन, अब मुख्य चयनकर्ता व पूर्व विकेटकीपर प्रसाद ने जडेजा की फिटनेस को लेकर कुछ अलग ही बयान दिया है. प्रसाद दौरे के शुरू से ही भारतीय टीम के साथ हैं. जडेजा दूसरे टेस्ट मैच में टीम का हिस्सा नहीं थे लेकिन अब बुधवार से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट मैच के लिए उन्हें अंतिम एकादश में शामिल किया गया है.

अश्विन से कम नहीं है ‘सरजी’ का जादू, मेलबर्न में कप्तान कोहली की टेंशन का बनेंगे ‘रामबाण’ इलाज

प्रसाद ने मीडिया से कहा, “जब हमने ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए जडेजा का चयन किया था तो वे पूरी तरह से फिट थे. चयन के लिए होने वाली बैठक से पहले चयन समिति को सभी खिलाड़ियों की फिटनेस रिपोर्ट दी जाती है. उस रिपोर्ट में जडेजा पूरी तरह से फिट थे. इसलिए हमने उन्हें चुन लिया.”

उन्होंने कहा, “इसके बाद जडेजा ने रेलवे के खिलाफ रणजी ट्रॉफी का मैच खेला और 60 से ज्यादा ओवर भी डाले. इसलिए यह कहना सही नहीं है कि चयन के समय वह अनफिट थे.”

धोनी टीम इंडिया में वापसी करते ही हुए ट्रेंड, फैन्स ने सोशल मीडिया पर जाहिर की खुशी

प्रसाद ने तीसरे टेस्ट मैच में पारी की शुरुआत करने के बारे में कहा कि हनुमा विहारी को मौका दिया जा सकता है. लोकेश राहुल और मुरली विजय के तीसरे टेस्ट मैच से बाहर हो जाने के बाद हनुमा, मयंक अग्रवाल के साथ पारी की शुरुआत कर सकते हैं. मयंक अपना पदार्पण टेस्ट मैच खेलेंगे.

प्रमुख चयनकर्ता ने कहा, “तकनीकी रूप से हमें लगा कि हनुमा मजबूत हैं. ऐसे कई मौके रहे हैं जब टीम की जरूरत के मुताबिक चेतेश्वर पुजारा ने भी पारी की शुरूआत की है. टीम को अभी इसकी जरूरत है और मैं आश्चस्त हूं कि वह सफल होंगे. हालांकि मैं यह कह सकता हूं कि यह लंबे समय के लिए समाधान नहीं होगा.”