नई दिल्ली. चेन्नई में जब तक धोनी की टीम की फिरकी चली, विराट टीम के बल्लेबाज नाचते रहे. ये सिलसिला तब तक चला जब तक तक पूरे चैलेंजर्स ऑल आउट नहीं हो गए. जी हां, बहुत मुश्किल होता है एक ऐसी टीम को बड़ा स्कोर करने से रोकना जिसमें विराट कोहली हों, एबी डीविलियर्स हों और हेटमायर जैसा जबरदस्त हिटर हो. लेकिन, धोनी के गेंदबाजों ने अपने गढ़ में ये कर दिखाया. उन्होंने अपनी तान पर विराट टीम के बल्लेबाजों को ऐसा नाच नचाया कि बस 70 रन बनाकर हाथ मलते रह गए. हालांकि, इसमें चेन्नई की टर्निंग पिच का भी बड़ा हाथ रहा, जिसका फायदा सुपरकिंग्स के स्पिनरों ने उठाया.

चेन्नई की टर्निंग पिच

चेन्नई की पिच का मूड किसी टेस्ट मैच के 5वें दिन की पिच की तरह था. पिच बल्लेबाजी के बिल्कुल माकूल नहीं थी. उस पर इतनी टर्न थी कि भज्जी, ताहिर और जडेजा ने उसका फायदा उठाने में कसर नहीं छोड़ी. तीनों स्पिनरों ने मिलकर 10 में से 8 विकेट अपने नाम किए, जिसमें भज्जी और ताहिर को 3-3 विकेट मिले जबकि जडेजा को 2 विकेट.

70 रन पर ढेर RCB

भज्जी, ताहिर और जडेजा की फिरकी का ही असर रहा कि RCB के बल्लेबाज सिर्फ 70 रन पर ढेर हो गए. ये IPL में उनका दूसरा सबसे कम स्कोर है. जबकि, चेपक स्टेडियम पर बनाया सबसे कम टोटल. इसके अलावा ये IPL के ओपनिंग मैच में भी अब तक का सबसे कम टोटल है. IPL में RCB का सबसे कम स्कोर 49 रन का है जो उन्होंने 2017 में ईडन गार्डन पर बनाए थे.

बल्लेबाजों को किस बात की जल्दी

चेपक की पिच पर RCB के बल्लेबाजों के आने और जाने का नजारा कुछ ऐसा था, मानो उन्हें कहीं जाने की जल्दी हो. यही वजह है कि 11 में से सिर्फ 1 बल्लेबाज ने ही उनकी टीम से दहाई का आंकड़ा पार किया.