नई दिल्ली. साउथ अफ्रीका दौरे के शानदार अंत के बाद अब टीम इंडिया की नजर श्रीलंका में होने वाली ट्राएंगुलर T20 सीरीज पर हैं. इस सीरीज में भारत और श्रीलंका के अलावा तीसरी टीम बांग्लादेश है, जिसने सीरीज की शुरुआत से पहले ही मैदान के बाहर लिए अपने फैसलों से हलचल मचा दी है. बांग्लादेश के इस फैसले पर भारत और श्रीलंका की टीमों की नजर भी जम गई है.

श्रीलंका में होने वाली ट्राएंगुलर T20 सीरीज के लिए बांग्लादेश ने अपनी टीम चुन ली है. इस टीम की कमान शकीब-अल-हसन के हाथों में है. लेकिन बड़ी बात ये है कि इस दौरे के लिए बांग्लादेश ने साढ़े 6 फुट लंबे वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज कॉर्टनी वाल्श को कोचिंग की जिम्मेदारी दी है. वाल्श इस दौरे पर बांग्लादेश के अंतरिम हेड कोच होंगे.

बता दें कि वॉल्श इससे पहले बांग्लादेश के बॉलिंग कोच थे. 3 साल के करार के साथ वो इस पद पर सितंबर 2016 में जुड़े थे. लेकिन अब उन्हें हथुरासिंघे की जगह टीम का हेड कोच बनाया गया है. बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड अब तक हथुरासिंघे का विकल्प नहीं ढूढ़ पाया था, लिहाजा उसे वाल्श को हेड कोच की जिम्मेदारी सौंपनी पड़ी.

साउथ अफ्रीका में विराट कोहली की सबसे बड़ी 'कमाई', अब शान से होगी इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया पर 'चढ़ाई'

साउथ अफ्रीका में विराट कोहली की सबसे बड़ी 'कमाई', अब शान से होगी इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया पर 'चढ़ाई'

बांग्लादेश का ये मास्टरस्ट्रोक भारत और श्रीलंका के साथ होने वाली ट्राएंगुलर T20 सीरीज में कैसे कमाल कर सकता है अब जरा वो समझिए. भारत के खिलाफ 53 इंटरनेशनल मैचों में वाल्श ने 109 विकेट चटकाए हैं. वही श्रीलंका के खिलाफ 25 इंटरनेशनल मुकाबलों में उनके नाम 34 विकेट दर्ज हैं. वाल्श के पास कुल 337 इंटरनेशनल मैचों का अनुभव हैं जिसमें उन्होंने 746 विकेट चटकाए हैं.

बतौर बॉलिंग कोच वाल्श ने बांग्लादेश के अनुभवी गेंदबाजों की धार तो तेज की ही है साथ ही उनकी कोचिंग में युवा गेंदबाज जमकर चमके हैं. बॉलिंग कोच वाल्श की कमान में बांग्लादेश के युवा गेंदबाज तस्कीन अहमद ने अपनी प्रतिभा को निखारते हुए 17 वनडे में 24 विकेट चटकाए हैं. बांग्लादेश के भारत दौरे पर भी तस्कीन अहमद ने अपनी अलग पहचान बनाई थी.

विराट कोहली का 'करिश्मा' देख सौरव गांगुली ने मारी 'पलटी', अब दे रहे हैं ये बयान

विराट कोहली का 'करिश्मा' देख सौरव गांगुली ने मारी 'पलटी', अब दे रहे हैं ये बयान

उम्मीद है कि अब टीम के हेड कोच बनने के बाद ना सिर्फ बांग्लादेश के गेंदबाजों का प्रदर्शन निखरेगा बल्कि बांग्लादेशी टीम का प्रदर्शन भी दुरुस्त होगा, जिसकी शुरुआत श्रीलंका में खेली जाने वाली ट्राएंगुलर T20 सीरीज से होगी.