रिधिमान साहा की कैरियर की सर्वश्रेष्ठ 203 रन की पारी की मदद से शेष भारत ने 379 रन का लक्ष्य हासिल करके गुजरात को दो सत्र रहते हराकर ईरानी कप अपने नाम कर लिया।

साहा के 203 और कप्तान चेतेश्वर पुजारा के नाबाद 116 रन की मदद से शेष भारत ने छह विकेट बाकी रहते लक्ष्य हासिल कर लिया । साहा कल 123 और पुजारा 83 रन पर खेल रहे थे जबकि टीम का स्कोर चार विकेट पर 266 रन था । दोनों ने आज लंच से एक घंटा पहले 19 . 1 ओवर में ही जीत सुनिश्चित कर दी । शेष भारत ने पिछले 19 में से 15 बार यह खिताब जीता है ।

पुजारा और साहा ने पांचवें विकेट के लिये 78.5 ओवर में 316 रन की साझेदारी की । टूर्नामेंट के इतिहास में यह दूसरी सर्वोच्च साझेदारी है । इससे पहले रवि शास्त्री और प्रणीय आम्रे ने शेष भारत के खिलाफ 1990. 91 में बेंगलूरू में चौथे विकेट के लिये 327 रन जोड़े थे ।

रणजी चैम्पियन गुजरात के गेंदबाज दोनों बल्लेबाजों को परेशान नहीं कर सके। पहली पारी में 132 रन की बढत लेने वाले गुजरात ने कठिन लक्ष्य दिया था लेकिन उसे इन दोनों ने आसानी से हासिल कर लिया ।

पुजारा ने हार्दिक पटेल को अपनी पारी का 16वां चौका लगाकर टीम को जीत तक पहुंचाया । पुजारा ने 230 गेंदों का सामना करके क्रीज पर 400 मिनट बिताये । वहीं साहा ने 346 मिनट में 272 गेंद खेलकर अपनी पारी में 26 चौके और छह छक्के जड़े ।