ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) ने पाकिस्तान टेस्ट टीम के नए कप्तान अजहर अली (Azhar Ali) की एडिलेड टेस्ट के पहले दिन अपनाई रणनीतियों की आलोचना की है। पॉन्टिंग ने कहा कि उन्हें अजहर के साथ सहानुभूति है क्योंकि वो एक साधारण के गेंदबाजी अटैक के साथ खेल रहे हैं लेकिन मैच के पहले दिन उनकी योजना और फील्ड प्लेसमेंट भी काफी खराब थी।

सरफराज अहमद की जगह पाक टेस्ट टीम के कप्तान बने अजहर के बारे में पूर्व कंगारू कप्तान ने कहा, “उसे देखकर ऐसा लग रहा है जैसे वो निशान से बहुत दूर है। उसने अपने करियर में केवल 16 प्रथम श्रेणी मैचों में कप्तानी की है इसलिए वो एक युवा कप्तान है जो कि युवा गेंदबाजी अटैक का नेतृत्व कर रहा है और ऐसा लगता है कि उन्हें थोड़े अनुभव की जरूरत है।”

एडिलेड टेस्ट : डे-नाइट टेस्ट में गरजा वॉर्नर और लाबुशेन का बल्ला, बना डाले सबसे बड़ी साझेदारी के रिकॉर्ड

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ने कहा, “जाहिर तौर पर ये सबसे अच्छा गेंदबाजी अटैक नहीं है लेकिन यहीं पर आपतो कप्तान की मदद की जरूरत होती है ताकि वो आपके लिए सही फील्ड सेट कर सके और आपको बता सकें कि बतौर गेंदबाज वो आपसे क्या चाहता है। ऐसा लगा नहीं कि वो मैदान पर उस दिशा में थे।”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे उसके लिए बुरा लगता है। ब्रिसबेन में उनके पास डेब्यू कर रहा 16 साल का नसीम शाह भी था और किसी अनसुलझे कारण की वजह से वो उसी सही तरीके इस्तेमाल नहीं कर पाए और वो इस मैच में नहीं खेल रहा है।”

महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य पर सौरव गांगुली ने कहा- अभी पर्याप्त समय है

पॉन्टिंग ने अजहर की कप्तानी के साथ पाकिस्तानी के गेंदबाजी अटैक की भी आलोचना की। पाक गेंदबाज एडिलेड टेस्ट के पहले दिन डेविड वार्नर और मार्नस लाबुशाने के खिलाफ पूरी तरह से असफल रहे। और इन दोनों बल्लेबाजों ने शतकीय पारियां खेली।

इस पर पॉन्टिंग ने कहा, “जहां तक मैंने देखा है, उनका अटैक काफी साधारण है। ये जाहिर तौर पर पाकिस्तान का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी अटैक नहीं है। पहले दिन के पांच ओवर होने के बाद मैंने किसी से कहा था कि ‘यहां से वो पूरे दिन कोई विकेट नहीं ले पाएंगे’।”