ब्राजील की मेजबानी में शनिवार से शुरू हुए ओलम्पिक खेलों-2016 में अपने-अपने देशों के लिए स्वर्ण पदक जीतने का सिलसिला शुरू हो चुका है और अमेरिका की निशानेबाज वर्जीनिया थ्रेशर ओलम्पिक-2016 का पहला स्वर्ण पदक जीतने वाली खिलाड़ी बनीं। थ्रेशर ने यह स्वर्ण पदक महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में हासिल किया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, चीन की डू ली ने जहां रियो ओलम्पिक का पहला रजत पदक अपने नाम किया, वहीं चीन की ही यी सिलिंग टूर्नामेंट का पहला कांस्य पदक अपनी झोली में डालने में सफल रहीं। क्वालिफिकेशन राउंड में आठवें स्थान पर रहीं यी सिलिंग ने शुरुआती छह शॉट में 63.1 अंक हासिल कर फाइनल में बढ़त ले ली। थ्रेशर ने हालांकि सातवें और आठवें शॉट के बाद अपने क्रम में सुधार किया। 10 शॉट के बाद रूस की दारिया व्दोविना शीर्ष पर पहुंच गई थीं, हालांकि वह आगे अपना प्रदर्शन कायम नहीं रख पाईं और अंत में पांचवें स्थान पर रहीं।

थ्रेशर, डू और यी के बीच मुकाबला बेहद कांटे का रहा। डू ने स्वर्ण पदक के लिए अपना पूरा जोर लगाया, लेकिन थ्रेशर ने आखिरी के चार शॉट में 10.4 से अधिक स्कोर हासिल किए और स्वर्ण पदक पर निशाना लगाया। यह भी पढेंः रियो ओलम्पिकः भारत ने हॉकी में जीत से किया आगाज, पहले मैच में आयरलैंड को दी मात

पदक समारोह के बाद थ्रेशर ने कहा, “अपने देश के लिए गर्व का अनुभव हो रहा है और मैं बेहद खुश हूं। मैं अपने पहले ओलम्पिक में सिर्फ अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश कर रही थी और बिना पदक के वापस नहीं जाना चाह रही थी।”

एथेंस ओलम्पिक-2004 में स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीत चुकीं अनुभवी डू का यह चौथा ओलम्पिक था। उन्होंने कहा, “यह बेहद कठिन मुकाबला था। मुझसे काफी उम्मीदें लगी हुई थीं, लेकिन यह सच में बेहद कठिन मुकाबला था।” डू का ओलम्पिक खेलों में यह तीसरा पदक है, हालांकि उन्होंने कहा कि वह मुकाबले के दौरान घबराई हुई थीं।

उन्होंने कहा, “मैं खुद को बार-बार वरीयता सूची की ओर देखने से नहीं रोक पा रही थी।” मौजूदा चैम्पियन यी को वहीं कांस्य से संतोष करना पड़ा।