ब्राजील के सबसे फेमस एथलीट पेले रियो ओलम्पिक की ओपनिंग सेरेमनी में शामि्ल नहीं होंगे। ऐसा उनकी खराब तबियत के चलते माना जा रहा है। एसोसिएटेड प्रेस ने लिखा है कि पेले ने कहा कि उनकी खराब तबियत रियो ओलम्पिक की ओपनिंग सेरेमनी में जाने की इजाजत नहीं दे रही है। पेले को कुछ साल पहले कई सर्जरी हो चुकी हैं। गौरतलब है कि ओलम्पिक की ओपनिंग सेरेमनी शनिवार सुबर 4.30 बजे (भारतीय समयानुसार) से होगी। यह साढ़े तीन घंटे चलेगी। पेले न सभी से माफी माँगी है। उन्होंने कहा कि मैंने ओलम्पिक में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

यह भी पढेंः रियो ओलम्पिक 2016: ओलम्पिक में भारत की शुभ शुरुआत, तीरंदाजी के नॉकआउट में पहुँचे अतानु दास

रियो के क्राइस्ट द रीडीमर प्रतिमा के पास पहुंची ओलम्पिक मशाल
ओलम्पिक मशाल शुक्रवार को रियो में कोकोवाडो पहाड़ पर स्थिति क्राइस्ट द रीडीमर प्रतीमा के पास पहुंची। इस प्रतिमा को हाल ही में दुनिया के सात नए अजूबों में शामिल किया गया है। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, सुबह के समय आर्कबिशप कार्डिनल ओरानी जोआओ टेमपेस्टा ने मशाल को पहाड़ तक पहुंचाया जहां ब्राजील की महिला बीच वॉलीबाल खिलाड़ी मारिया इसाबेल बोररोसो सालगडो ने मशाल को प्रज्वालित किया।

यह भी पढेंः रियो ओलम्पिक 2016: ‘सबसे शानदार’ ओपनिंग सेरेमनी का गवाह बनने के लिए तैयार है रियो

आर्कबिशप ने इस मौके पर कहा, “हम अब शांति के 100 दिनों का अनुभव कर रहे हैं। दिन की शुरुआत के लिए रियो डी जेनेरियो जैसी खूबसूरत जगह से अच्छा कुछ नहीं हो सकता।” यह मशाल अंतत: माराकाना स्टेडियम पहुंचेगी जहां दक्षिण अमेरिका में पहली बार ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक खेलों का आयोजन किया जा रहा है।

 

रियो के क्राइस्ट द रीडीमर प्रतिमा के पास पहुंची ओलम्पिक मशाल