रियो डी जनेरियो, 17 अगस्त (आईएएनएस)| भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने रियो ओलम्पिक के 12वें दिन बुधवार को फ्रीस्टाइल स्पर्धा के 58 किलोग्राम भारवर्ग में अपना पहला मुकाबला जीत लिया। साक्षी ने स्वीडन की पहलवान मलिन जोहान्ना मैटसन को 5-4 से हराया। साक्षी तकनीकी अंकों के आधार पर जीतने में सफल रहीं। साक्षी पहले पीरियड में खास नहीं कर सकीं और उनकी स्वीडन की प्रतिद्वंद्वी दो अंक हासिल करने में सफल रहीं। लेकिन दूसरे पीरियड में साक्षी ने अच्छा दमखम दिखाया। दूसरे पीरियड में मैटसन को चेतावनी मिली और साक्षी यहां बाजी मारने में कामयाब रहीं। Also Read - शर्मनाक हार के बाद बोले Joe Root, 'पहला मैच तो ठीक था, लेकिन बाकी में हम Team India की बराबरी नहीं कर पाए'

Also Read - COVID-19: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा, 24 घंटे में आए 18,327 नए केस

यह भी पढेंः रियो ओलम्पिक 2016: ये महिला खिलाड़ी भारत को दिला सकती है पहला मेडल, देखिए तस्वीरें Also Read - China Defense Budget 2021: चीन का रक्षा बजट पहली बार 200 अरब डॉलर के पार, भारत से तीन गुना ज्‍यादा

साक्षी ने दूसरे पीरियड में पांच अंक हासिल किए और मुकाबला अपने नाम करने में सफल रहीं। मुकाबले से साक्षी को 3 क्लासिफिकेशन पॉइंट और मैटसन को एक क्लासिफिकेशन अंक भी मिले। साक्षी अब इलिमिनेशन राउंड में अगला मुकाबला बुधवार को ही मालदोवा की इसानू मारियाना चेरदिवारा से भिड़ेंगी।

रियो ओलम्पिक (बैडमिंटन) : श्रीकांत नहीं पहुंच सके सेमीफाइनल में

रियो डी जनेरियो, 17 अगस्त (आईएएनएस)| भारत के अग्रणी पुरुष खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत ब्राजील की मेजबानी में खेले जा रहे 31वें ओलम्पिक खेलों के 12वें दिन बुधवार को पुरुष एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में कड़े संघर्ष के बाद भी हार कर ओलम्पिक से बाहर हो गए हैं। ओलम्पिक के रियोसेंटर पवेलियन-4 में खेले गए मैच में 11वीं विश्व वरीयता प्राप्त श्रीकांत को तीसरी विश्व वरीयता प्राप्त चीनी दिग्गज लिन डैन ने रोमांचक मुकाबले में 21-6, 11-21, 21-18 से मात देते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई।

यह भी पढेंः रियो ओलम्पिकः सलमान खान हर भारतीय एथलीट को देंगे 1 लाख का ईनाम

तीसरी विश्वी वरीयता प्राप्त चीनी खिलाड़ी ने पहला सेट महज 16 मिनट में अपने नाम किया। इस गेम में भारतीय खिलाड़ी अपने विपक्षी के सामने कहीं नहीं थे। दूसरे गेम में श्रीकांत ने जबरदस्त वापसी की और गेम जीत मुकाबला तीसरे गेम में ले गए। श्रीकांत ने एकतरफा गेम में 19 मिनट में डैन को मात देते हुए बराबरी कर ली। तीसरे गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखी गई, लेकिन कड़े और संघर्षपूर्ण मुकाबलें में डैन ने 21-18 से जीत हासिल करते हुए श्रीकांत के पहले ओलम्पिक का सफर खत्म किया। यह गेम 29 मिनट तक चला।