नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में खेले गए टेस्ट मैच में भारत ने शानदार जीत हासिल की. टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच में भारत ने कंगारू टीम को 137 रन से हराया. इस जीत के साथ भारत ने सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली. यह मुकाबला भारतीय खिलाड़ियों के लिए कई कारणों से खास रहा. इसमें सबसे अहम कारण सीरीज में बढ़त के साथ रिकॉर्ड्स का टूटना है. विकेटकीपर ऋषभ पंत भी इस फेरिस्त में शामिल हैं. पंत ने ब्रैड हैडिन की बराबरी की है. इसके साथ ही उन्होंने पीटर नेविल को पीछे छोड़ा.

दरअसल पंत ने इसी साल इंटरनेशनल टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया. उन्होंने डेब्यू कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा आउट करने के मामले में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ब्रैड हैडिन की बराबरी कर ली. पंत ने इस साल कुल 42 खिलाड़ियों को आउट किया है. जब कि साल 2008 में हैडिन ने भी 42 खिलाड़ियों को आउट किया था. ऋषभ ने इस मामले में पीटर नेविल को पीछे छोड़ा. नेविल ने 2015 में बतौर विकेटकीपर 36 खिलाड़ियों को आउट किया था. इससे पहले केविन राइट ने 1979 में 35 खिलाड़ियों को आउट किया था. अहम बात यह है कि इसमें कैच और स्टम्प आउट शामिल है.

विराट की कप्तानी का रहा साल 2018 में ‘बोलबाला’, भारतीय क्रिकेट के हर बड़े रिकॉर्ड का टूटा ‘ताला’

गौरतलब है कि ऋषभ ने इंटरनेशनल टेस्ट क्रिकेट में और भी कई रिकॉर्ड बनाए हैं. वो पहले भारतीय विकेटकीपर हैं, जिन्होंने टेस्ट डेब्यू मैच में पांच कैच पकड़े. इसके साथ ही वो ऐसे पहले भारतीय विकेटकीपर हैं, जिन्होंने इंग्लैंड में टेस्ट शतक लगाया. पंत टेस्ट में 11 कैच लपकने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर भी हैं. इसके अलावा और भी कई रिकॉर्ड्स हैं जो कि पंत ने अपने नाम किए हैं.

VIDEO: पंत ने टिम पेन को दिया स्लेंजिग का जवाब, कहा- ‘टेम्पररी कैप्टन देखा है कभी’

बता दें कि पंत ने अब तक 14 टेस्ट पारियां खेली हैं. इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 2 अर्धशतकों की मदद से 537 रन बनाए. पंत का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 114 रन है. उन्होंने 2 वनडे पारियों में 41 रन बनाए हैं. इसके अलावा वो 9 टी-20 इंटरनेशनल पारियां भी खेल चुके हैं. उन्होंने टी-20 मैचों में एक अर्धशतक लगाया है. अगर उनके विकेटकीपिंग को देखें तो पंत ने वनडे और टी-20 में तीन-तीन कैच लिए हैं. जब कि टेस्ट में काफी अच्छा प्रदर्शन किया.