बर्मिंघमः अपनी बल्लेबाजी तकनीक से प्रभावित करने वाले युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत को बांग्लादेश के खिलाफ मंगलवार को खेले गए मैच को लेकर नसीहत मिली है. टीम इंडिया के फील्डिंग कोच आर श्रीधर ने इस मैच के दौरान ऋषभ पंत की कुछ चूक के बाद कहा कि इस युवा क्रिकेटर को अपनी ‘थ्रोइंग तकनीक’ में सुधार के साथ आउटफील्ड में भी फुर्तीला होने की जरूरत है. श्रीधर ने स्वीकार किया कि जहां तक आउटफील्ड में क्षेत्ररक्षण का संबंध है तो पंत को अभी काफी प्रगति करनी है.

भारत ने मंगलवार को बांग्लादेश पर 28 रन की जीत के बाद सेमीफाइनल में प्रवेश किया. इसके बाद श्रीधर ने कहा, ‘पंत को अभी काफी काम करना है. पहले तो उसे थ्रो की तकनीक में सुधार करने की जरूरत है और साथ ही उसे आउटफील्ड में भी ज्यादा फुर्तीला होने की आवश्यकता है.’ कप्तान विराट कोहली और सीनियर खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ने डीप में पंत के कुछ विशेष क्षेत्ररक्षण स्थान चुने हैं.

पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेट श्रीधर ने कहा, ‘हमें क्षेत्ररक्षण में उसे उचित स्थान पर इस्तेमाल करना पड़ेगा, इसलिए विराट और एमएस ने उसे सही समय पर सही स्थान पर रखा. इंग्लैंड के खिलाफ पिछले मैच में उसने कम से कम पांच रन बचाए थे जो काफी फायदेमंद था. उसने एक कैच भी लिया था.’ श्रीधर के अनुसार अनुभवी दिनेश कार्तिक इस युवा क्रिकेटर की तुलना में कहीं ज्यादा बेहतर क्षेत्ररक्षक हैं.

उन्होंने कहा, ‘निश्चित रूप से दिनेश विकेटकीपर होने के नाते कहीं बेहतर क्षेत्ररक्षक हैं. वह बैकवर्ड प्वाइंट पर कुछ बेहतरीन बचाव करता है. ऋषभ अभी सीख रहा है और उसे इसमें सुधार करने की जरूरत है. इसलिये हम क्षेत्ररक्षकों को एक ही स्थान पर लगाते रहते हैं ताकि उन्हें इसके बारे में पता चल जाए.’

(इनपुट-भाषा)