नई दिल्ली : टीम इंडिया ने करीब एक हफ्ते पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज में जीत हासिल की. इस जीत ने भारतीय खिलाड़ियों को विश्व क्रिकेट में एक नई पहचान दिलायी. इसमें सबसे ज्यादा ऋषभ पंत का प्रदर्शन रहा. पंत ने उम्मीद से कहीं ज्यादा बेहतर प्रदर्शन किया. उन्होंने बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज खुद को एक परफेक्ट पैकेज के रूप में साबित किया. हाल ही में पंत ने एक एक इंटरव्यू में कहा कि वो महेन्द्र सिंह धोनी और एडम गिलक्रिस्ट को अपना आइडल मानते हैं. लेकिन वो किसी को कॉपी नहीं करना चाहते. पंत का कहना है कि उनकी पहचान हमेशा उनके नाम से होनी चाहिए.

दरअसल पंत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में शतक जड़ा और दमदार प्रदर्शन करते हुए भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई. इससे वह सुर्खियों में आ गए. पंत ने हाल ही में एक क्रिकेट वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में कहा, मैं गिलक्रिस्ट और माही भाई को आइडल मानता हूं. लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि मैं उनके जैसा खिलाड़ी बनना चाहता हूं. मैं ऋषभ पंत ही रहना चाहता हूं. अपने आइडल को कॉपी करने से बेहतर है कि आप उनसे कुछ सीखें.

मेलबर्न वनडे से पहले रायडू ने शास्त्री से लिया गुरु मंत्र, धोनी-धवन ने बहाया पसीना

गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में पंत ने काफी सुर्खियां बटोरीं. विकेट के पीछे खड़े होकर उन्हें ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन पर कई तरह के कमेंट किए, जो कि स्टम्प माइक के जरिए सभी ने सुनी. उन्हें पेन ने बेबीसिटर कहा था. इसके जवाब में पंत ने उन्हें टेम्पररी कप्तान कह दिया. पंत और पेन की यह नोकझोक सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो गई. इतना ही नहीं पंत ने पेन के बच्चे को गोद में उठाकर फोटो भी खिंचवाई.

वर्ल्ड कप 2019: इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी की भविष्यवाणी, बताया कौन जीत सकता है फाइनल

बता दें कि पंत ने अब तक 15 टेस्ट पारियों में 696 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 2 शतक और 2 अर्धशतक जड़े. पंत ने टेस्ट मैचों में 73.81 का स्ट्राइक रेट बरकरार रखा है. उनका सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 159 रन है. जबकि पंत ने 3 वनडे मैच भी खेले हैं. इसके अलावा वो 9 टी-20 पारियों में 157 रन बना चुके हैं. इसमें एक अर्धशतक शामिल है. इससे पहले उन्होंने अंडर 19 टीम इंडिया के लिए कई मौकों पर शानदार प्रदर्शन किया.