नई दिल्ली : पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने सोमवार को कहा कि वह युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत के भारत की विश्व कप टीम से बाहर होने से हैरान हैं क्योंकि वह काफी ‘बेहतरीन’ बल्लेबाजी फार्म में हैं और उसके विकेटकीपिंग कौशल में काफी सुधार हो रहा है. 33 वर्षीय दिनेश कार्तिक ने भारत की विश्व कप के लिये चुनी गयी 15 सदस्यीय टीम में दूसरे विकेटकीपर के स्थान पर पंत को पछाड़ दिया है. विश्व कप इंग्लैंड में 30 मई से शुरू हो रहा है. गावस्कर ने कहा कि यह कदम हैरानी भरा है लेकिन उन्होंने बेहतर विकेटकीपर के तौर पर कार्तिक का समर्थन किया.

गावस्कर ने एक न्यूज चैनल से कहा, ‘‘पंत की फार्म को देखते हुए यह थोड़ा हैरानी भरा है. वह सिर्फ आईपीएल में ही नहीं बल्कि इससे पहले भी काफी बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहा था. वह विकेटकीपिंग में भी काफी सुधार दिखा रहा था. वह शीर्ष छह में बायें हाथ का बल्लेबाजी विकल्प मुहैया कराता जो गेंदबाजों के खिलाफ काफी अच्छा होता.’’ उन्होंने कहा, ‘‘गेंदबाजों को बायें हाथ के बल्लेबाजों के लिये अपनी लाइन एवं लेंथ में बदलाव करना पड़ता और कप्तान को मैदान में काफी इंतजाम करने होते.’’

World Cup 2019: ऋषभ पंत टीम इंडिया से बाहर, सलेक्टर्स ने बताई ये बड़ी वजह

पंत ने इस मौजूदा आईपीएल में अभी तक 245 रन जबकि कार्तिक ने 111 रन बनाये हैं. गावस्कर ने हालांकि इस कदम के फायदे भी बताते हुए कहा, ‘‘किसी दिन सुबह को अगर महेंद्र सिंह धोनी को फ्लू होता है और वह नहीं खेल पाता तो आप ऐसा खिलाड़ी चाहोगे जो बेहतर विकेटकीपर हो. मुझे लगता है कि कार्तिक को किसी और चीज से ज्यादा विकेटकीपिंग कौशल से ही टीम में जगह मिली.’’

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के ऑलराउंडर विजय शंकर की ‘त्रिआयामी विशेषताओं’ को देखते हुए वह टीम के लिये काफी उपयोगी खिलाड़ी होंगे. उन्होंने कहा, ‘‘वह ऐसा क्रिकेटर है जिसने पिछले एक साल में काफी सुधार किया है. उसके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी हुई है. शंकर काफी उपयोगी क्रिकेटर भी है. वह काफी अच्छा बल्लेबाज है, उपयोगी गेंदबाज है और बेहतरीन क्षेत्ररक्षक है.’’

World Cup 2019: टीम इंडिया में रायडू की जगह विजय शंकर, नंबर 4 की रेस में पिछड़े अंबाती

पूर्व भारतीय बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने कहा कि पंत को केंद्रीय अनुबंध में शीर्ष वर्ग में शामिल किये जाने से उन्हें लगा था कि यह युवा खिलाड़ी भारत की विश्व कप टीम में जगह बना लेगा. उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘‘कुछ हफ्ते पहले पंत को केंद्रीय अनुबंधों में शीर्ष वर्ग में शामिल किया था. भारत ने चौथे स्थान के विकल्प के लिये शंकर को चुना है. लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि यह कारगर होगा या नहीं. डीके तभी खेलेगा जब धोनी उपलब्ध नहीं होंगे. कोई चौथा तेज गेंदबाज नहीं. दिलचस्प विकल्प. उम्मीद करते हैं कि यह कारगर होगा. गुडलक.’’

भारत की 2007 विश्व टी20 जीत के स्टार रहे पूर्व भारतीय क्रिकेटर आर पी सिंह ने कहा, ‘‘स्पष्ट रूप से टीम चयन में दिनेश कार्तिक के रूप में अनुभव और संयम को चुना गया है. मध्यक्रम देखना काफी दिलचस्प होगा जिसमें लोकेश राहुल और दिनेश कार्तिक चौथे नंबर पर हो सकते हैं. बाकी सब ठीक दिखता है.’’