भारत की पहली पसंद के टेस्ट विकेटकीपर रिद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी के दौरान चोटिल हो गये जिसके कारण तीसरे दिन के अंतिम घंटे में रिषभ पंत (Rishabh Pant) को विकेटकीपर की जिम्मेदारी निभानी पड़ी.

पढ़ें:- रॉबिन सिंह बोले BCCI इजाजत नहीं देती अन्‍यथा भारतीय बल्‍लेबाज…

पुणे में दूसरे टेस्ट में अपनी बेहतरीन विकेटकीपिंग से सभी का ध्यान खींचने वाले 35 वर्षीय साहा के दायें हाथ की उंगली (अनामिका) में चोट लगी है. वह पारी के 27वें ओवर में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) की गेंद पर चोटिल हो गये थे.

बंगाल के इस विकेटकीपर का चोटों से पुराना नाता रहा है. कंधे की चोट और फिर ऑपरेशन के कारण वह 20 महीने तक राष्ट्रीय टीम से बाहर रहे थे.

पढ़ें:- INDvSA: साउथ अफ्रीका को फॉलोऑन देते ही विराट ने तोड़ा अजहरुद्दीन का रिकॉर्ड

भारतीय टीम के मीडिया विभाग ने बयान जारी करके कहा, ‘‘रिद्धिमान साहा के दायें हाथ की उंगली (अनामिका) पर गेंद लगी. उनका उपचार किया गया और अब वह बेहतर महसूस कर रहे हैं. उनकी चोट का कल सुबह आकलन किया जाएगा.’’

जार्ज लिंडे ने अश्विन की गेंद को कट करने की कोशिश की लेकिन वह चूक गये और साहा के दायें हाथ की उंगली में जाकर लगी. इस वजह से साहा को फिजियो नितिन पटेल के साथ पवेलियन लौटना पड़ा.

तीसरे दिन के बाकी बचे खेल में पंत ने विकेटकीपिंग की. वह 2017 के आखिर में आईसीसी नियम प्रभाव में आने के बाद स्थानापन्न विकेटकीपर के तौर उतरने वाले दूसरे विकेटकीपर हैं.

भारत के पहले स्थानापन्न विकेटकीपर दिनश कार्तिक थे जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जनवरी 2018 में जोहान्‍सबर्ग में अंतिम टेस्ट मैच में पार्थिव पटेल की जगह विकेटकीपिंग की थी.