नई दिल्ली: इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान हो चुका है. इस बार टीम में युवा खिलाड़ियों को भी शामिल किया है. चयनकर्ताओं ने युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत को भी टीम में मौका दिया है. पंत बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज टीम के हिस्सा होंगे. हालांकि बतौर विकेटकीपर दिनेश कार्तिक टीम की प्राथमिकता होंगे. अगर पंत के टीम इंडिया में शामिल होने के कारणों की बात करें तो इसके पीछे सबसे बड़ी वजह उनका प्रदर्शन है. पंत ने घरेलू मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है. इसके अलावा इंडिया ए की तरफ से खेलते हुए भी शानदार प्रदर्शन किया. उन्होंने लगातार 3 अर्धशतक जड़े. Also Read - ‘ट्रेसर बुलेट’ की तरह घूम रही COVID-19 महामारी से बचने के लिए घरों में रहें: रवि शास्त्री

दरअसल टीम इंडिया के युवा खिलाड़ी ऋषभ इस समय फॉर्म में चल रहे हैं. उन्होंने इंडिया ए की तरफ से खेलते हुए इंग्लैंड लॉयन्स के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया. पंत ने एक अनऑफीशियल टेस्ट मैच की पहली पारी में 58 रन जब कि दूसरी पारी में 61 रन बनाए. इससे पहले उन्होंने वेस्टइंडीज ए के खिलाफ 67 रन की नाबाद पारी खेली. इतना ही नहीं उन्होंने द ओवल में खेले गए एक मुकाबले में इंग्लैंड लॉयन्स के खिलाफ 64 रन की नाबाद पारी खेली. पंत का इंग्लैंड में लगातार शानदार प्रदर्शन करना टीम इंडिया में शामिल होने की बड़ी वजह है. Also Read - COVID-19: कोहली एंड कंपनी का ऑस्ट्रेलिया दौरा अधर में, ये है वजह

वनडे सीरीज के बाद साक्षी संग पार्टी में दिखे धोनी, जीवा का दिखा अलग अंदाज Also Read - ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने वीवीएस लक्ष्मण की इस पारी को सर्वकालिक पसंदीदा पारियों में से एक बताया

अगर पंत के घरेलू करियर को देखें तो वह भी प्रभावी रहा है. उन्होंने फर्स्ट क्लास मैचों की 34 पारियों में 1744 रन बनाए हैं. इस दौरान पंत ने 4 शतक और 8 अर्धशतक जड़े. अहम बात यह रही कि फर्स्टक्लास मैचों में पंत का स्ट्राइक रेट 95.24 रहा है. इसके अलावा उन्होंने 54.50 का औसत भी बरकरार रखा है. अहम बात यह भी है कि इस दौरान पंत का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 308 रन रहा है. इस युवा खिलाड़ी ने लिस्ट ए में भी अच्छा प्रदर्शन किया है.

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में टीम इंडिया के चौंकाने वाले आंकड़े, कहीं बन न जाये हार का कारण

गौरतलब है कि इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए ऋद्धिमान साहा टीम इंडिया में शामिल नहीं है. ऐसे में टीम को एक बैकअप विकेटकीपर बल्लेबाज चाहिए थे. इस स्थिति में दिनेश कार्तिक के बाद ऋषभ पंत सही विकल्प के रूप में दिखा. लिहाजा चयनकर्ताओं ने पंत को टीम में शामिल किया. भारतीय टीम टेस्ट सीरीज के 5 मैच इंग्लैंड के खिलाफ खेलेगी. यह सीरीज 1 अगस्त से 11 सितंबर तक खेली जायेगी. इस दौरान पहला टेस्ट मैच बर्मिंघम में खेला जायेगा. इसी तरह सीरीज का आखिरी मुकाबला लंदन में आयोजित होगा.