नई दिल्ली. शेन वॉटसन का फॉर्म दिल्ली कैपिटल्स पर भारी पड़ रहा था. लेकिन तभी अमित मिश्रा ने अपनी गुगली से गेंदबाजों के लिए बंजर कोटला की पिच पर एक विकेट की खेती कर ली. हालांकि, ये रिषभ पंत की फुर्ती के बिना संभव नहीं था और रिषभ पंत के लिए धोनी भइया के स्टाइल को फॉलो किए बगैर. सीधे शब्दों में कहें तो पंत ने धोनी से सीखा फंडा उन्ही की टीम पर आजमा दिया और दिल्ली कैपिटल्स को शेन वॉटसन का बड़ा विकेट मिल गया.

मैच के 7वें ओवर में अमित मिश्रा की गेंद पर वॉटसन 2 छक्के जड़ चुके थे. वॉटसन ने उनकी अगली गेंद को भी उड़ाना चाहा लेकिन मिश्रा ने उसे वाइड फेंका, जिसे लपककर पंत ने वॉटसन के स्टंप उड़ा दिए और अंपायर ने उन्हें पवेलियन जाने का इशारा कर दिया. पंत ने वॉटसन को स्टंप करने के लिए जो फुर्ती दिखाई और जितनी बाहर से उन्होंने गेंद को लपका वैसी चपलता सिर्फ धोनी में ही दिखती है.

वॉटसन की विस्फोटक पारी

पंत की फुर्ती की वजह से करीब 170 की स्ट्राइक रेट वाली वॉटसन की धुआंधार पारी का अंत हो गया. उन्होंने 26 गेंदों पर 44 रन बनाए, जिसमें 4 चौके और 3 छक्के शामिल रहे.